भाजपा का दामन छोड़ ये वरिष्ठ नेता हुए कांग्रेस में शामिल

ख़बर शेयर करें

राज्य में हर एक राजनीतिक दल के द्वारा दल बदल की खबरें सामने आती जा रही है इसी क्रम में एक बड़ी खबर यमुनोत्री विधानसभा सीट सबके सामने आ रही है यहां पर यमुनोत्री भाजपा को बड़ा झटका लगा है। भाजपा के वरिष्ठ नेता पूर्व राज्य मंत्री जगवीर भंडारी ने रविवार को कांग्रेस का दामन थाम लिया है। बता दें कि रविवार को देहरादून प्रदेश कांग्रेस प्रभारी देवेंद्र यादव एवं वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से पूर्व सीएम हरीश रावत और पीसीसी अध्यक्ष गणेश गोदियाल व यमुनोत्री से कांग्रेस प्रत्याशी दीपक बिजल्वाण, पूर्व चेयरमैन अतोल रावत ने भाजपा के पूर्व दायित्वधारी भंडारी को विधिवत रूप से कांग्रेस की सदस्यता दिलाई है।


बता दे कि बीजेपी से नाराज भंडारी ने यमुनोत्री विधानसभा से 28 जनवरी को निर्दलीय नामांकन कराया था। श्री भंडारी के कांग्रेस में शामिल होने से कांग्रेस का जहां फायदा पहुंचेगा वही भाजपा ने यमुनोत्री विधानसभा से एक जमीनी नेता खोया है इससे यमुनोत्री क्षेत्र में भाजपा की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।


जगवीर भंडारी पूर्व में ब्लॉक प्रमुख रह चुके हैं। उन्होंने यमुनोत्री विधानसभा क्षेत्र से 2012 में भाजपा के टिकट से चुनाव भी लड़ा था। तब उन्होंने 10 हजार से अधिक वोट हासिल किए थे। क्षेत्र में लगातार सक्रिय रहते हैं। उनको प्रभाव भी अच्छा है। भंडारी के कांग्रेस ज्वाइन करने से भाजपा को बड़ा झटका लगा है।


जगवीर भंडारी त्रिवेंद्र सरकार में दायित्वधारी भी रह चुके हैं। उनको टिकट मिलने की उम्मीद थी। सर्व भी उनके पक्ष में था. बावजूद उनको टिकट नहीं दिया गया, जिससे वो नाराज चल रहे थे। तब से ही यह कहा जा रहा था कि वो निर्दलीय नामांकन करवाया था आज उन्होंने पत्रकारों को बताया है कि मैं अपना नाम वापस लूंगा और कांग्रेस ज्वाइन करने के बाद पूरी तरह से कांग्रेस पार्टी के लिए काम करूंगा और यमुनोत्री विधानसभा हम भारी अंतर से जीतेंगे।


शुक्रवार को उन्होंने नामांकन किया था। वही असंतुष्ट भाजपा में भी हलचल शुरू हो गई गई है। बता दे कि पूर्व राज्य मंत्री जगबीर सिंह भंडारी मृदुभाषी व्यवहार कुशल जाने जाते हैं और उनकी यमुनोत्री विधानसभा में अपनी अलग पहचान है। यमुनोत्री विधानसभा में एक और जहां भाजपा में टिकट वितरण को लेकर के पहले ही असंतुष्ट हैं दूसरी ओर पूर्व राज्य मंत्री जगबीर भंडारी के कांग्रेस में शामिल होने से यमुनोत्री भाजपा के लिए शुभ संकेत नहीं है। उन्होंने कहा है कि मेरे कार्यकर्ता एवं विधानसभा की जनता मेरे से मेरे ऊपर दबाव बना रही थी कि आप भारतीय जनता पार्टी से छोड़कर यमुनोत्री से चुनाव मैदान में आओ यि कोई दूसरी राष्ट्रीय पार्टी को ज्वाइन करो । उन्होंने दावा किया है कि मैं यमुनोत्री विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी।दीपक बिजल्वाण भारी अंतर से विजय हासिल करेगें।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.