भू कानून को खुर्द बुर्द के लिए भाजपा जिम्मेदार : नेगी

Ad
ख़बर शेयर करें

रामनगर एसकेटी डॉट कॉम

प्रदेश में भू कानून लागू करने की मांग को लेकर पूर्व ब्लाक प्रमुख एवं वर्तमान में जेष्ठ प्रमुख की जिम्मेदारी निभा रहे हैं कांग्रेस नेता संजय नेगी ने जनप्रतिनिधियों के साथ एक दिवसीय उपवास रखा। संजय नेगी ने कहा कि भू कानून उत्तराखंड की भौगोलिक और सांस्कृतिक विरासत को बचाए रखने के लिए बहुत आवश्यक है।

इसके साथ ही हम अन्य लोगों को भी यहां बसने के लिए न्यूनतम भूखंड खरीदने का अधिकार बाहरी लोगों को दिया भी गया था लेकिन भाजपा की सरकार ने इस कानून को खुर्द बंद कर दिया जिससे यहां पर लोगों को दबाव में लेकर सफेदपोश भू माफियाओं ने कौड़ियों के दाम करोडों की जमीन खरीद ली ।जिससे उत्तराखंड की कई सूंदर लोकेशन वाली जमीनें यहां के स्थानीय लोगों के हाथ से निकल गई ।

ज्येष्ठ ब्लाक प्रमुख संजय नेगी के नेतृत्व में एकत्रित पंचायत प्रतिनिधियों एवं कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने तहसील परिसर में एक दिवसीय उपवास व धरना प्रदर्शन कार्यक्रम में प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन करते हुए सरकार से प्रदेश में शीघ्र भू कानून की मांग की।

ज्येष्ठ ब्लाक प्रमुख संजय नेगी ने बताया कि वर्ष 2002 में पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय नारायण दत्त तिवारी द्वारा प्रदेश में भू कानून लगाया गया था। जिसमें प्रदेश से बाहर के व्यक्ति केवल उत्तराखंड में 500 वर्ग मीटर जमीन ही खरीद सकते थे। उन्होंने कहा कि वर्ष 2018 में भाजपा की सरकार के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस कानून को बदल दिया जिसके बाद प्रदेश से बाहर का कोई भी व्यक्ति उत्तराखंड में आकर कितनी भी जमीन खरीद सकता है।

उन्होंने कहा कि इस कानून के बाद से बाहरी प्रदेश से आने वाले लोग उत्तराखंड के किसानों की जमीन को ओने पौने दामों में खरीद कर ज्यादा दामों में बेचकर प्रदेश के किसानों का उत्पीड़न कर रहे हैं। जिसे सहन नहीं किया जाएगा उन्होंने कहा कि आज प्रदेश के युवा पूरे प्रदेश में भू कानून की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। संजय नेगी ने कहा कि उत्तराखंड सरकार शीघ्र ही हिमाचल सरकार की तर्ज पर उत्तराखंड में भी भू कानून लागू करें साथ ही हमारी मांग यथा शीघ्र ना होने पर उन्होंने उग्र आंदोलन करने की चेतावनी भी दी है।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *