फर्जी मार्कशीट के जरिए भाजपा विधायक को पत्नी को चुनाव लड़ना पड़ा भारी,हुई जेल

Ad
ख़बर शेयर करें

फर्जी मार्कशीट को लेकर कई मामले सामने आते रहते हैं लेकिन इस बार एक अजीबोगरीब मामला फर्जी मार्कशीट को लेकर राजस्थान से सामने आ रहा है यहां पर 2015 में हुए पंचायत चुनाव में अपनी पत्नी को कथित तौर पर फर्जी मार्कशीट के जरिए चुनाव लड़वाने वाले भाजपा विधायक को गहलोत सरकार ने जेल भेज दिया है। आरोप है कि सलंबूर से विधायक अमृत मीणा ने अपनी पत्नी की पांचवीं की फर्जी अंकतालिका जारी करा चुनाव लड़वाया था। इसमें अभिभावक के तौर पर भी उन्हीं के हस्ताक्षर थे। बताया गया है कि हाल ही में उन्होंने इस मामले में जयपुर कोर्ट के सामने सरेंडर कर दिया था, जिसके बाद उन्हें 23 जुलाई तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।बताया जाता है कि तब बोगस मार्कशीट पर चुनाव लड़ने वाली भाजपा एमएलए की पत्नी इकलौती नहीं थी। उनके अलावा 1068 ऐसे मामले थे, जहां उम्मीदवारों ने फर्जी मार्कशीट के जरिए चुनाव लड़े और जीत हासिल की।

इसके बावजूद जहां गहलोत सरकार ने भाजपा विधायक के साथ कुछ अन्य पर कड़ी कार्रवाई कर उदाहरण सेट किए हैं, वहीं 98 फीसदी मामले ऐसे भी हैं, जिन्हें न तो निलंबित किया गया है, न ही उनकी गिरफ्तारी हुई है। मजेदार बात यह है कि अब यह सब अपने कार्यकाल भी पूरे कर चुके हैं। इसके अलावा अब पंचायत चुनाव से शैक्षणिक योग्यता का मानक भी हटा लिया है।CRPC की धारा 41 में संशोधन के बाद पुलिस आरोपी को सात साल से कम सजा वाले प्रकरण में सीधे गिरफ्तार नहीं कर सकती है। कोर्ट में सीधे आरोपी के खिलाफ नोटिस देकर चालान पेश कर दिया, ताकि आरोपी की गिरफ्तारी ही न हो पाए। राज्य सरकार ने ऐसे आरोपियों के खिलाफ निलंबन की कोई कार्रवाई भी नहीं की।भाजपा के अमृत मीणा के सलाखों के पीछे पहुंचने के बाद अब एक और चर्चित चेहरा जेल जाने वाले नेताओं में शामिल हो चुका है। वसुंधरा सरकार में बसपा के पूर्व विधायक बीएल कुशवाहा को ऑनर किलिंग के मामले में सजा सुनाई गई थी। उनके जेल जाने के बाद उनकी पत्नी शोभारानी ने भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़कर जीत हासिल की।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *