भाजपा को कल लग सकता है झटका, हरक होंगे कांग्रेस में शामिल !

ख़बर शेयर करें

देहरादून एसकेटी डॉटकॉम ।

2016 में कांग्रेस के खिलाफ बगावत का झंडा बुलंद करने वाले वर्तमान में भाजपा के कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत कल उत्तराखंड की राजनीति में धमाल कर सकते हैं।

हरक सिंह रावत संभवत कल कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं। हरक सिंह रावत कांग्रेस में शामिल होने के बाद कांग्रेसी गोत्र के भाजपा नेताओं में भगदड़ मच सकती है। यशपाल आर्य जी कांग्रेस में वापसी के बाद अब हरक सिंह रावत भी कांग्रेस में शामिल होंगे।

हरीश रावत के बाद यशपाल आर्य और हरक सिंह ही कांग्रेस के बाद वरिष्ठ नेता है। जानकारी के अनुसार हरक सिंह रावत की भाजपा के त्रिवेंद्र सिंह रावत कैंप के नेताओं के साथ पटरी नहीं बैठ पाए उन्हें कर्मकार कल्याण बोर्ड से भी बाहर कर दिया गया ऐसा ही नहीं बल्कि उनके खिलाफ जांच भी उठाई गई।

कांग्रेस के सूत्रों की की माने तो उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत बीजेपी गए कांग्रेस नेताओं को वापिस लाने के लिए ज्यादा उत्सुक नहीं हैं. हरक सिंह रावत उन नेताओं में से थे, जिन्होंने हरीश रावत सरकार के खिलाफ 2016 में बगावत कर दी थी और मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया था. इसलिए हरीश रावत की हरक सिंह रावत से कटुता निजी है जो यशपाल आर्य के साथ नहीं है . लेकिन कांग्रेस आलाकमान पुराने नेताओं को पार्टी में जगह देना चाहता है.

इस मामले में नेताओं की भर्ती सीधे दिल्ली से कोआर्डिनेट हो रही है और स्थानीय नेताओं को इसके बारे में सूचित किया जा रहा है. कांग्रेस आलाकमान को लगता है कि इन नेताओं के आने से राज्य में ठीक से हवा बन पाएगी. हरीश रावत ने अक्टूबर में यह तक कह दिया था कि बिन माफी मांगे किसी नेता को कांग्रेस में जगह नहीं दी जाएगी. उसके बाद हरक सिंह रावत ने दो चीजें कही थी. एक वो 2022 में चुनाव लड़ना नहीं चाहते और दूसरी कि जो उन्होंने कांग्रेस और उसके नेतृत्व के बारे में बोला था वो गलत है.

कांग्रेस नेता हरीश रावत अपनी आखिरी पारी की तरह खेल रहे हैं. यशपाल आर्य के बाद हरक सिंह रावत दूसरे बड़े नेता हैं जो घर वापिसी कर रहे हैं. बीजेपी ने पिछले 1 साल में दो बार मुख्यमंत्री को बदला है. 2017 के उत्तराखंड चुनाव बीजेपी भारी बहुमत से जीती थी और कांग्रेस के तमाम बड़े नेता पार्टी को छोड़ कर बीजेपी में शामिल हो गए थे . लेकिन अब पहिया अब उलटा घूम रहा है और अब बीजेपी से कई नेता कांग्रेस वापिस आना चाहते हैं.

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *