असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के लिए जिला पंचायत अध्यक्ष बेला ने उठाया यह कदम #Eshrmcard ( देखें वीडियो )

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी एसकेटी डॉट कॉम

भारत सरकार द्वारा मजदूरों के हितों के लिए हमेशा जन सरोकार वाले कदम उठाए जाते हैं इसके माध्यम से इन्हें तरह तरह की सुविधाएं दी जाती है लेकिन लोगों में जागरूकता नहीं होने के चलते यह लोग यह योजना से जुड़ नहीं पाते हैं जिससे बीमारी समेत कई दिक्कतों में उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ता है.

ई श्रम कार्ड बनाने तथा इसमें रजिस्ट्रेशन करने के बाद मजदूरों को बीमार होने तथा मृत्यु होने पर उनके परिजनों को आर्थिक लाभ भी मिलता है इसके अलावा उन्हें कई प्रकार के संसाधन भी दिए जाते हैं उन्हें काम करने के लिए औजार भी उपलब्ध कराए जाते हैं

श्रम विभाग भारत सरकार द्वारा ई श्रम कार्ड लागू किया गया है इससे पहले भी श्रम कार्ड जारी होता था लेकिन पहले यह योजना सिर्फ निर्माण कार्य से जुड़े लोगों को ही मिलती थी लेकिन अब सरकार ने निर्माण कार्य के अलावा अन्य असंगठित क्षेत्रों जैसे रेडी आंगनबाड़ी और अपना काम करने वाले छोटे मजदूरों को भी इस योजना से जोड़ दिया गया है

ई श्रम कार्ड बनाने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करती जिला पंचायत अध्यक्ष बेला तोलिया

इस संबंध में जिला पंचायत नैनीताल की अध्यक्ष बेला तो लिया द्वारा अपने आवास पर श्रम विभाग के के अधिकारियों को बुलाने के अलावा इस संबंध में नियुक्त की गई नोडल एजेंसी को भी बुलाया और हाथों-हाथ दर्जनों लोगों के इस श्रमिक कार्ड बनाए गए . उन्होंने अधिक से अधिक लोगों को योजना से जोड़ने को कहा था कि उन्हें किसी भी तरह की दिक्कतों का सामना ना करना पड़े श्रम विभाग के अधिकारियों ने यहां पर आकर एजेंसी के सामने कई लोगों के कार्डों की प्रक्रिया पूरी कराई तथा हर 3 वर्ष में इस कार्ड को रिनुअल करने को कहा

. ई श्रम कार्ड बनाने के बाद मजदूरों को कई तरह के लाभ केंद्र और राज्य सरकार द्वारा दिए जाते हैं लेकिन इनके नेताओं और मजदूरों में जागरूकता की कमी के चलते इनका लाभ नहीं उठा पाते हो इन सभी बातों को देखते हुए जिला पंचायत अध्यक्ष बेला तोलिया ने अपने आवास पर कैंप लगाकर लोगों को लाभान्वित करने का प्रयास किया. जिसकी ग्रामीण क्षेत्र में काफी प्रशंसा की जा रही है

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.