पीएम के दौरे से पहले रंगाई – पुताई कर चमकाया गया अस्पताल, बदली गईं टाइलें, बिछे नए गद्दे

ख़बर शेयर करें



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज (1 नवंबर को) मोरबी दौरे पर पहुंच रहें हैं। इस दौरान पीएम मोदी मोरबी पुल हादसे के पीड़ितों से मिलने अस्पताल जाएंगे। पीएम मोदी के दौरे से पहले मोरबी के अस्पताल को खूब चमकाया जा रहा है। यहां हादसे में घायल लोगों का इलाज चल रहा है।


सोशल मीडिया पर सामने आई तस्वीरों में दिख रहा है कि कि जिस अस्पताल में घायलों का इलाज चल रहा है वहां पीएम के दौरे से पहले नई टाइलें लगाईं जा रहीं हैं। दीवारों को पेंट किया जा रहा है।पिछले काफी वक्त से खराब पड़ा वाटर कूलर आनन फानन में बदल दिया गया है। मरीजों के बिस्तरों पर बड़े गद्दों को बदला गया है। यहां नए गद्दे डाल दिए गए हैं। इसके साथ ही साज सज्जा के अन्य काम किए जा रहें हैं।
इन तस्वीरों के सामने आने के बाद अब राजनीति भी शुरु हो गई है। तमाम विपक्षी पार्टियों ने इसे पीएम मोदी के लिए हो रही इवेंटबाजी बताया है।


कांग्रेस ने सोमवार (31 अक्टूबर) को ट्विटर पर तस्वीरों को साझा करते हुए पीएम मोदी के दौरे पर सवाल उठाए। कांग्रेस ने ट्वीट में लिखा, “त्रासदी का इवेंट, कल पीएम मोदी मोरबी के सिविल अस्पताल जाएंगे. उससे पहले वहां रंगाई-पुताई का काम चल रहा है… चमचमाती टाइल्स लगाई जा रही हैं… पीएम मोदी की तस्वीर में कोई कमी न रहे, इसका सारा प्रबंध हो रहा है. इन्हें शर्म नहीं आती! इतने लोग मर गए और ये इवेंटबाजी में लगे हैं…”


वहीं आम आदमी पार्टी ने भी इसे लेकर बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है। आम आदमी पार्टी ने अपने ट्वीटर अकाउंट पर लिखा है, ”Morbi Civil Hospital का दृश्य… कल प्रधानमंत्री के Photoshoot में कोई कमी ना रह जाए इसलिए अस्पताल की मरम्मत की जा रही है। अगर भाजपा ने 27 वर्षों में काम किया होता तो आधी रात को अस्पताल को चमकाने की जरूरत न पड़ती।”


आपको बता दें कि मोरबी में पुल टूटने से 150 के करीब लोगों की मौत हो गई और कई लोग लापता हो गए हैं। लापता लोगों के लिए अब भी तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। वहीं इस हादसे में कई लोग घायल भी हुए जिन्हे मोरबी के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इसी अस्पताल में पीएम मोदी दौरा करने पहुंच रहें हैं। कई मृतकों के शवों को भी इसी अस्पताल में रखा गया है।


भले ही पीएम मोदी एक भयावह दुर्घटना के पीड़ितों से मुलाकात के लिए पहुंच रहें हैं लेकिन गुजरात सरकार उनकी अगवानी में कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती है। सोशल मीडिया पर मौजूद तस्वीरें बता रहीं हैं कि न सिर्फ अस्पताल को चमकाया गया बल्कि सड़कों भी नए सिरे से बना दिया गया।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.