अंकिता हत्यांकाड: VIP मेहमानों और कॉल गर्ल्स की नहीं होती थी विजिटर रजिस्टर में इंट्री

ख़बर शेयर करें



अंकिता हत्याकांड में एक बड़ा खुलासा हुआ है। एसआईटी की जांच में पता चला है कि पुलकित के रिजार्ट में आने वाले ‘वीआईपी’ मेहमानों और कॉल गर्ल्स की विजिटर रजिस्टर में कोई इंट्री नहीं की जाती थी। हालात ये थे कि कौन आया और कौन गया इसका कोई हिसाब किताब ही नहीं रहता था। ऐसे में अब एसआईटी के लिए ऐसे वीआईपी मेहमानों का पता लगाना मुश्किल हो गया है।


एक अहम बात ये भी है कि अगर एसआईटी ऐसे लोगों के बारे में पता भी लगा लेती है तो उसे तकनीकि साक्ष्य मजबूत रखने होंगे क्योंकि रजिस्टर में एंट्री न होने से उनके रिजार्ट में मौजूद होने के सबूत नहीं मिलेंगे। लिहाजा अब एसआईटी के सामने एक बड़ी चुनौती आन खड़ी है। उसे इस इलाके में सक्रिय रहे मोबाइल फोन्स की जानकारी एकत्र करनी होगी और साथ ही उनसे संपर्क करना होगा।


हालांकि इस बीच एक पहलु ये भी है कि पुलकित के रिजार्ट में कई गेस्ट्स के प्रेसिडेंशियर सुइट में रुकने के बारे में पता चला है। ये वही सुइट है जिसे रिजार्ट में वीआईपी सुइट के नाम से जाना जाता था। इसमें रुकने वाले मेहमानों को भी वीआईपी मेहमान ही कहा जाता था। एसआईटी को अपनी जांच में इस सुइट में रुकने वाले कुछ लोगों के बारे में जानकारी मिल गई है। एसआईटी उनसे पूछताछ कर सकती है। हालांकि कई लोगों के बारे में कोई जानकारी नहीं है। इनमें वही वीआईपी गेस्ट्स हैं जिनके लिए कॉल गर्ल्स बुलाईं जाती थीं। ऐसे गेस्ट्स और कॉल गर्ल्स के बारे में रिजार्ट में कोई इंट्री नहीं की जाती थी।


रिजार्ट में काम करने वाली एक पूर्व कर्मचारी इस बारे में पहले ही खुलासा कर चुकी है। उसने रिजार्ट में होने वाले काले धंधे और गलत कामों के बारे में भी बताया है। इसके साथ ही मेरठ के एक अन्य दंपत्ति ने भी इस बारे में खुलासा किया है।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.