अल्मोड़ा वनाग्नि हादसा, प्रमुख वन संरक्षक ने किया घटनास्थल का दौरा, जताई फायर बॉल से हादसे की आशंका

ख़बर शेयर करें



अल्मोड़ा में बीते दिनों पहले बिनसर वन्यजीव विहार में वनाग्नि की चपेट में आने से चार वनकर्मियों की मौत हो गई थी। जबकि चार जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहे हैं। प्रमुख वन संरक्षक ने घटना स्थल का दौरा किया। प्रथमदृष्टया हादसे की वजह फायर बॉल मानी जा रही है।

Ad
Ad


मामले को लेकर वन मंत्री सुबोध उनियाल ने जांच के आदेश दिए थे। इसके साथ ही प्रमुख वन संरक्षक को 15 दिनों में जांच रिपोर्ट देने के निर्देश दिए थे। जिसके बाद प्रमुख वन संरक्षक धनंजय मोहन ने घटना का दौरा किया। प्रथम दृष्टया हादसे की वजह फायर बॉल को माना जा रहा है। जिस वजह से आग तेजी से फैल गई। और कर्मचारियों को अपने बचाव के लिए भी समय नहीं मिल पाया।

जांच रिपोर्ट आना बाकी

मिली जानकारी के अनुसार घटनास्थल पर जांच में कई सालों से काफी मात्रा में बांज की सुखी पत्तियां डंप होना पाया गया। इसके साथ ही घटनास्थल पर तीखी ढाल भी है। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि सूखी पत्तियों जो बेहत ज्वलनशील होती है। उसमें आग लगी और फायर बॉल बनने के बाद तेजी से आ गई होगी और उसकी चपेट में वनकर्मी आ गए। हालांकि जांच रिपोर्ट आना अभी बाकी है।

फायर बॉल क्या होती है ? What is a fire ball?
जब जंगल में आग लगती है और तेज हवा चलती है तो एक फायर बॉल बनता है। जो तेजी से मूवमेंट करता है। इस फायर बॉल की चपेट में जो भी चीज आती है उसे काफी नुकसान होता है।