कलाकारों के दिल में सभी धर्म बसते हैं

ख़बर शेयर करें


हल्द्वानी एसकेटी डॉटकॉम
कलाकार साहित्यकार चित्रकार   सभी कार्य भगवान को एक मानते हुए निष्पक्ष तथा स्वच्छ मन से करते आए हैं। कलाकार किसी भी धर्म जाति अथवा मजहब का हो वह अपने कार्य में अपने धर्म को आड़े नहीं आने देता हैं।

कलाकार चाहे हिंदू हो अथवा मुसलमान सिख हो अथवा ईसाई वह अपने कार्य में सभी धर्मों को बराबर मानता है तथा उनके अच्छे बर्ताव की बात को सभी के सामने रखता है ऐसे ही एक कलाकार नफीस अहमद खान भी हैं जो मुसलमान होते हुए भी कभी भी सिर्फ मुसलमानों के लिए ही कार्य नहीं करते हैं अथवा एक ही धर्म के लिए फोटो अथवा चित्रकारी नहीं करते हैं उन्होंने अभी तक सैकड़ों की संख्या में भगवान शिव, गुरु नानक ,गुरु गोविंद सिंह यीशु मसीह तथा मुस्लिम धर्म से संबंधित फोटो बनाई है और सभी धर्मों के अनुयायियों से सर्व धर्म कुटुंबकम की बात को करते आए हैं ।

बकौल नफीस खान उन्होंने कहा कि मुझे किसी भी धर्म में कोई बुराई नजर नहीं आती है सभी धर्मों की अच्छी बातें एक समान होती है तथा सभी मानव की सेवा एवं ईश्वर की आराधना की बात करते हैं लेकिन आज कल लोग कुछ स्वार्थी लोगों के बहकावे में आकर किसी किसी धर्म को बड़ा तथा छोटा दिखाने की कोशिश करते हैं तथा उसकी मनगढ़ंत बुराई को सामने उजागर करने की बात करते हैं। जबकि शास्त्रों ग्रंथों और कुरान में मानव सेवा और ईश्वर एक होने की बात कही गई है।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.