गवर्नर कोश्यारी के बयान के बाद महाराष्ट्र में पक्ष विपक्ष तमतमाया, उद्धव ने दिया ऐसा बयान

ख़बर शेयर करें

मुंबई एसकेटी डॉट कॉम

होम राज्य महाराष्ट्र Maharashtra: शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने राज्यपाल के बयान पर साधा निशाना, कहा- सरकार स्पष्ट करे अपना स्टैंड
Maharashtra: शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने राज्यपाल के बयान पर साधा निशाना, कहा- सरकार स्पष्ट करे अपने
Maharashtra News: पूर्व सीएम उद्धव ठाकरे ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के बयान को लेकर उन पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा है कि राज्यपाल को माफी मांगनी चाहिए.
Maharashtra: शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने राज्यपाल के बयान पर साधा निशाना, कहा- सरकार स्पष्ट करे अपना स्टैंड

(शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे)

पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शनिवार को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से उनकी एक टिप्पणी पर माफी मांगने की मांग की. दरअसल राज्यपाल कोश्यारी ने कहा था कि “अगर गुजरातियों और राजस्थानियों को राज्य से हटा दिया जाता है, तो यहां पैसे नहीं होंगे.” हालांकि राज्यपाल ने बाद में इस मामले को लेकर स्पष्टीकरण दिया. इस पर ठाकरे ने कहा कि “मैं उनके स्पष्टीकरण से संतुष्ट नहीं हूं. राज्यपाल को माफी मांगनी चाहिए. उन्होंने न केवल मराठी लोगों की भावनाओं को आहत किया है बल्कि उन्होंने हिंदुओं को भी विभाजित किया है. राज्यपाल पद की शपथ लेते हैं. क्या समुदायों को बांटना उसका काम है? अगर यह अपराध है, तो उन्हें कानून द्वारा दंडित किया जाना चाहिए.”

ठाकरे ने आगे कहा कि “मैं जानना चाहता हूं कि महाराष्ट्र में सत्ता में आए ये नव-हिंदू इस बारे में क्या सोचते हैं. सरकार को अपना स्टैंड स्पष्ट करना चाहिए. अगर दिल्ली का यह पार्सल समुदायों को बांट रहा है तो उसे वापस भेज देना चाहिए. और अगर अपराध किया है तो उसे सजा मिलनी चाहिए.”

राज्यपाल ने एक सभा में कही थी ये बात

शुक्रवार को मुंबई के अंधेरी में एक सभा को संबोधित करते हुए, राज्यपाल कोश्यारी ने कहा कि “अगर गुजराती और राजस्थानी लोगों को महाराष्ट्र, खासकर मुंबई और ठाणे से हटा दिया जाता है, तो यहां कोई पैसा नहीं बचेगा. आप मुंबई को आर्थिक राजधानी कहते हैं, लेकिन अगर ये (गुजराती और राजस्थानी) लोग यहां नहीं हैं, तो इसे आर्थिक राजधानी नहीं कहा जाएगा.” हालांकि, अब राज्यपाल ने स्पष्ट किया कि उनकी टिप्पणी को “गलत समझा गया” और राजनीतिक दलों से “विवाद पैदा नहीं करने” के लिए कहा.

उन्होंने कहा कि “मेरा मराठी लोगों को नीचा दिखाने का कोई इरादा नहीं था. मैंने केवल गुजराती और राजस्थानी लोगों के योगदान के बारे में बात की. यह मराठी आबादी है जिसने महाराष्ट्र को उसकी वर्तमान स्थिति में विकसित किया है…मराठी लोगों को नीचा दिखाने का कोई सवाल ही नहीं है.”राज्यपाल ने एक सभा में कही थी ये बात

शुक्रवार को मुंबई के अंधेरी में एक सभा को संबोधित करते हुए, राज्यपाल कोश्यारी ने कहा कि “अगर गुजराती और राजस्थानी लोगों को महाराष्ट्र, खासकर मुंबई और ठाणे से हटा दिया जाता है, तो यहां कोई पैसा नहीं बचेगा. आप मुंबई को आर्थिक राजधानी कहते हैं, लेकिन अगर ये (गुजराती और राजस्थानी) लोग यहां नहीं हैं, तो इसे आर्थिक राजधानी नहीं कहा जाएगा.” हालांकि, अब राज्यपाल ने स्पष्ट किया कि उनकी टिप्पणी को “गलत समझा गया” और राजनीतिक दलों से “विवाद पैदा नहीं करने” के लिए कहा.

उन्होंने कहा कि “मेरा मराठी लोगों को नीचा दिखाने का कोई इरादा नहीं था. मैंने केवल गुजराती और राजस्थानी लोगों के योगदान के बारे में बात की. यह मराठी आबादी है जिसने महाराष्ट्र को उसकी वर्तमान स्थिति में विकसित किया है…मराठी लोगों को नीचा दिखाने का कोई सवाल ही नहीं है.”

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.