आखिर क्यों चुनाव आयोग ने अधिकारियों को दिए 24 घंटा नेट ऑन और लोकेशन ऑन रखने के निर्देश

ख़बर शेयर करें

निर्वाचन आयोग ने चुनाव को निष्पक्ष संपन्न कराने के लिए कई तरह के उपाया किए जा रहे हैं। चुनाव अयोग ने एक आदेश जारी किया है, जिससे अधिकारियों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। सभी जोनल और सेक्टर मजिस्ट्रेट सहित बड़ी जिम्मेदारी वाले अधिकारियों को फोन की लोकेशन 24 घंटे ऑन रखने के लिए कगया है। लगातार उनकी लोकेशन ट्रेस की जा रही है।


अगर कुछ भी देर के लिए मोबाइल की लोकेशन या इंटरनेट बंद हुआ तो तुरंत फोन पर पूछा जा रहा है। लोकेशन ऑफ मिलने के कारण पूछे जा रहे हैं। निर्वाचन आयोग इस बार चुनाव में तकनीक का ज्यादा इस्तेमाल कर रहा है। आयोग की ओर से जिन विधानसभा क्षेत्रों में जो भी जोनल और सेक्टर मजिस्ट्रेट या अहम जिम्मेदारी निभा रहे अफसर तैनात किए गए हैं।


उन्हें मोबाइल लोकेशन और इंटरनेट 24 घंटे ऑन रखने के निर्देश दिए गए हैं। अगर एक पल के लिए भी लोकेशन बंद होती है या इंटरनेट डिस्कनेक्ट होता है तो तुरंत फोन करके जानकारी ली जा रही है। अगर किसी अफसर की लोकेशन किसी पार्टी दफ्तर किसी नेता के घर या कार्यालय या किसी भी ऐसी संवेदनशील जगह पर मिलेगी तो उन अफसरों को इसका स्पष्टीकरण और पूरा विवरण देना होगा।
अधिकारियों को यह बताना होगा कि वे उस जगह किसलिए गए? इसके लिए उनके मोबाइल पर आयोग का ऐप भी डाला गया है। चुनाव आयोग के इस निर्देश के बाद अफसर जहां परेशान हैं, वहीं उनको अपने मोबाइल दिन में तीन से चार बार चार्ज करने पड़ रहे हैं। 24 घंटे लोकेशन और इंटरनेट ऑन रहने के चलते मोबाइल की बैटरी काफी जल्दी खत्म हो रही है।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.