अदानी नाम की कंपनी ने किया डेढ़ सौ किसानों के साथ 50 लाख की धोखाधड़ी ,जांच में जुटी पुलिस

ख़बर शेयर करें

किसानों के साथ ठगी करने को लेकर एक मामला नैनीताल जिले के सामने आ रहा है जानकारी के अनुसार बता दे कि अडानी के नाम पर खोली गई कंपनी के द्वारा उनके फलों और अन्य फसलों का बीमा करने के नाम पर किसानों के साथ ठगी की गई है और यह था कि अभी तक धारी और रामगढ़ के डेढ़ सौ किसानों के साथ 50 लाख से ज्यादा अधिक राशि की ठगी की गई है वह किसानों के द्वारा पुलिस को सौंपी के तहरीर में किसानों ने कहा है कि रामगढ़ के पास मई में अडानी आर्गेनिक नाम से कंपनी ने अपना कार्यालय खोला था। ग्राम कोकिल बना में खुले कार्यालय में बोर्ड पर अडानी तो कागजात में एडनेस नाम लिखा गया। यही नहीं, जालसाजों ने धारी में भी कंपनी की शाखा खोलकर 15 युवकों को कार्यालय में काम भी दिया। फरवरी में रामनगर निवासी एमडी मनोज नैनवाल व जीएम जसराज चौधरी ने स्थानीय लोगों के साथ मीटिंग की, जिसमें कहा कि बिचौलिये को आड़ू, पुलम, सेब, नाशपाती और अन्य जैविक फसलें आदि बेचने के बजाय अडानी कंपनी को माल दिया जाए, जिसमें बेहतर मुनाफा, ट्रांसपोर्टेशन आदि की बचत के बारे में बताया गया।कहा गया कि माल खरीदने के बाद एक सप्ताह में भुगतान कर दिया जाएगा। जिसके बाद गांव के करीब 150 लोग कंपनी से जुड़ गए। लोग कंपनी को आड़ू व पुलम देने लगे। इसके अतिरिक्त कंपनी ने कृषि व बागवानी बीमा कराने पर 10 गुना मुनाफे का वादा किया, जिसमें 25 हजार के बीमा पर ढाई लाख देने की बात बताई गई। तहरीर में कहा गया कि लोगों ने पैसे लगाकर बीमा कराया। इस तरह क्षेत्र से करीब 50 लाख से ज्यादा की ठगी कर ली गई।

पैसे कमाने के बाद भुगतान की बारी आई तो कंपनी वाले कोरोना महामारी का बहाना बनाने लगे। अब बागवानों को ठगी का एहसास हुआ है। उन्होंने कोतवाली हल्द्वानी पहुंचकर मामले की शिकायत की है।मंडी कारोबारी जीवन सिंह कार्की ने कहा कि किसानों को ठगने का काम तेजी से हो रहा हे। भोलेभाले किसानों को चूना लगाने की पिछले कुछ समय से कई घटनाएं सामने आ गई हैं। इसको लेकर जनजागरूकता अभियान चलाना पड़ेगा।इस बारे में एसपी सिटी जगदीश चंद्र का कहना है कि मामला उनके संज्ञान में आया है. पूरे मामले की जांच की जाएगी. और इस पूरे प्रकरण में जो भी आरोपी होगा उसके ऊपर कठोर कार्यवाही की जाएगी।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *