उत्तराखंड में अडानी ग्रुप्स करेगा 500 करोड़ का निवेश, कांग्रेस ने उठाए सवाल

ख़बर शेयर करें



अडानी ग्रुप्स उत्तराखंड में कृषि क्षेत्र में 500 करोड़ का निवेश करने जा रहा है। रविवार को अडानी समूह के प्रतिनिधिमंडल ने कृषि एवं उद्यान मंत्री गणेश जोशी से मुलाकात की। अडानी समूह के प्रतिनिधिमंडल ने इस बारे में चर्चा की। अडानी ग्रुप्स की उत्तराखंड में कृषि व बागवानी फसलों के भंडारण में निवेश की योजना है।

Ad
Ad

अडानी ग्रुप्स उत्तराखंड में कृषि व बागवानी फसलों के भंडारण में 500 करोड़ का निवेश करने जा रहा है। इस से प्रदेशके किसानों को फसलों के भंडारण में सुविधा मिलेगी। अनाज से लेकर फलों तक को लंबे समय तक सुरक्षित रखने के लिए किसानों को कोल्ट स्टोरेज की सुविधा मिलेगी। इस से उपज को खराब होने से भी बचाया जा सकेगा।

इन्वेस्टर समिट में 2.5 हजार करोड़ का निवेश का किया था ऐलान
आपको बता दें कि अडानी समूह ने ग्लोबल इन्वेस्टर समिट में उत्तराखंड में 2.5 हजार करोड़ के निवेश का ऐलान किया था। अडानी समूह ने सीमेंट संयंत्रों की क्षमता बढ़ाने, एयरोसिटी बनाने और स्मार्ट बिजलीमीटर लगाने में 2,500 करोड़ रुपए से अधिक का निवेश करने का ऐलान किया था।

ग्लोबल इन्वेस्ट समिट में अडानी ग्रुप्स ने अंबुजा सीमेंट्स की मौजूदा क्षमता का विस्तार करने के लिए 1,700 करोड़ रुपए, रुड़की संयंत्र की क्षमता को मौजूदा 12 लाख टन प्रति वर्ष से अगले वर्ष के अंत तक 30 लाख टन प्रति वर्ष तक ले जाने के लिए 300 करोड़ और 40 लाख टन की क्षमता वाले एक ग्राइंडिंग यूनिट स्थापित करने के लिए लगभग 1,400 करोड़ रुपए निवेश करने की बात कही थी।

अडानी के निवेश पर कांग्रेस ने उठाए सवाल
अडानी के उत्तराखंड में निवेश करने पर कांग्रेस ने सवाल उठाए हैं। कांग्रेस की मुख्य प्रवक्ता गरिमा मेहरा दसौनी एवं प्रदेश प्रवक्ता शीशपाल सिंह बिष्ट ने बयान जारी करते हुए अडानी समूह द्वारा उत्तराखंड में 500 करोड़ का निवेश किए जाने पर स्पष्टीकरण मांगा है। गरिमा दसौनी का कहना है कि उत्तराखंड के कृषि मंत्री कह रहे हैं कि अडानी समूह उत्तराखंड के कृषि क्षेत्र में कृषि उपज को खरीदने के लिए 500 करोड़ रुपए का निवेश करेगा। जबकि हरियाणा, पंजाब के किसान हों या देश के किसान, लगातार अडानी और अंबानी समूह के खिलाफ मुखर विरोध कर रहे हैं।

अडानी समूह मनमाने तरीके से किसानो की फसल को खरीदने का काम करता है और फिर मनमाने दामों पर उसको बाजार में बेचने का काम करता है। ऐसे में उन्हें आशंका है कि सुनियोजित षड्यंत्र के तहत पूरी कृषि उपज मनमाने तरीके से उद्योगपति मित्रों के हाथों में सौंपने की पूरी तैयारी की जा रही है। उन्होंने सरकार से सवाल पूछा है कि ये काम क्यों उत्तराखंड के बेरोजगार नौजवानों को नहीं सौंपा जा सकता ?

अपने दम पर कोल्ड स्टोरेज क्यों नहीं बनाती सरकार
कांग्रेस का सवाल है कि सरकार अपनी जिम्मेदारियां को नहीं समझ रही है ? सरकार को अगर कोल्ड स्टोरेज बनाने हैं तो वो अपने दम पर क्यों नहीं बना रही? इसके साथ ही कांग्रेस का कहना है कि ये काम उत्तराखंड के किसानों को सरकार द्वारा प्रोत्साहन देकर क्यों नहीं दिया जा सकता? कांग्रेस सवाल किया है कि क्या गारंटी है कि आने वाले समय में उत्तराखंड की पूरी कृषि उपज , फलों की उपज मनमाने तरीके से अडानी समूह के हाथ में नहीं चली जाएगी? इसके साथ ही कांग्रेस का कहना है कि कहीं उद्यान घोटाले में संदेहास्पद भूमिका होने के चलते और सीबीआई का शिकंजा कसते देख ध्यान भटकाने के लिए नया पैंतरा चला जा रहा है।