उत्तराखंड-यहां दबिश देने पहुंची एसओजी टीम को ग्रामीणों ने बनाया बंधक,की मारपीट,मुकदमा दर्ज

Ad
ख़बर शेयर करें

शादी के उधम सिंह नगर जिले से एक बड़ी खबर सामने आ रही है यहां पर एसओजी की टीम को सूचना मिली थी कि दिनेशपुर थाना के अंतर्गत जगदीशपुर गांव में अवैध असलाहे है जिस सूचना पर जांच व कार्रवाई करने एसओजी की टीम जब गांव के घर में पहुंची तो परिवार के लोगों ने ग्रामीणों के साथ मिलकर एसओजी की टीम पर हमला कर दिया और जमकर मारपीट की, यही नहीं ग्रामीणों ने एसओजी की टीम को बंधक भी बना लिया, वहीं सूत्रों की मानें तो महिला कॉन्स्टेबल के साथ भी ग्रामीणों के द्वारा काफी अभद्रता की गई और मारपीट की गई है। वही पूरे मामले में एसएसपी दलीप सिंह कुंवर ने कहा कि जिन लोगों के द्वारा एसओजी की टीम के साथ मारपीट बंधक बनाना समेत अन्य घटाएं की गई है इन सभी के खिलाफ कड़ा एक्शन लिया जाएगा। वही दिनेशपुर थाने में सीओ से लेकर तमाम अधिकारी मौजूद है।

वही इस मामले में एसपी सिटी ममता वोरा ने पिटाई वाली बात को ख़ारिज किया है उनका कहना है कि अभद्रता हुई है.इस मामले में अवैध असलहों के अलावा रुद्रपुर में हुई 10.80 लाख की लूट मामले में कुछ इनपुट मिलने के बाद दिनेशपुर में दबिश को गई एसओजी की टीम पर हमला कर दिया। इससे मौके पर हड़कंप मच गया। आरोप है कि इस दौरान टीम को बंधक भी बनाया और एसआइ की पिस्टल छीन ली। बाद में सूचना पर पहुंची दिनेशपुर थाना पुलिस ने टीम पर हमला करने वाले चार लोगों को हिरासत में ले लिया। साथ ही घायल एसआई और महिला कांस्टेबल का मेडिकल कर पुलिस आरोपितों पर केस दर्ज करने की तैयारी कर रही है।डेढ़ माह पहले कैश मैनेजमेंट कंपनी कर्मी से बाइक सवार बदमाशों ने रुद्रपुर में 10.80 लाख लूट लिए थे। तब से पुलिस और एसओजी टीम बदमाशों की तलाश में जुटी हुई है। बताया जा रहा है कि शनिवार को एसओजी की लूट से जुड़े कुछ इनपुट मिले थे। जिसकी पुष्टि को एसओजी की टीम दिनेशपुर के जगदीशपुर गाँव निवासी निरंजन मंडल के घर पहुंच गई। जहां एसओजी टीम को लोगों ने घेर लिया और उन पर हमला कर दिया। जिससे एसओजी में तैनात एसआई सुरेंद्र प्रताप सिंह व महिला कांस्टेबल अरुणा घायल हो गई। इसका पता चलते ही एसपी सिटी ममता बोहरा। सीओ दिनेशपुर आशीष भारद्वाज, एसओ दिनेशपुर अशोक कुमार पुलिस कर्मियों के साथ जगदीशपुर गांव पहुंच गए।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *