सफाई कर्मचारियों की मांगों को लेकर शहरी विकास मंत्री मिले सीएम से,मांगों को लेकर बनी सहमति- राजौर

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी-यहां पर राज्य सफाई कर्मचारी आयोग के उपाध्यक्ष अजय राजौर ने सफाई कर्मचारियों की मांगों को लेकर बताया कि सेवानिवृत्त और मृत्यु होने के बाद जो पद मृत घोषित किए जा रहे थे अब उन्हें जल्द पुनर्जीवित किए जाएंगे। इसके अलावा खाली पड़े संविदा व स्वच्छता समिति में कार्यरत सभी कर्मचारियों जिनकी सेवा 10 वर्ष की हो चुकी है, उन कर्मचारियों को भी नियमित करने पर सहमति बनी है।राज्य सफाई कर्मचारी आयोग के उपाध्यक्ष और शहरी विकास मंत्री सफाई कर्मचारियों की मांगों को लेकर मुख्यमंत्री से देहरादून में मिले थे, जिसके बाद कई बिंदुओं पर सहमति बन चुकी है। जिन को जल्द कैबिनेट में लाया जा सकता है। इसके अलावा सभी सफाई कर्मचारियों को 5 लाख तक का निशुल्क इलाज मिलने का आदेश भी जारी किया जाएगा।शिक्षित सफाई कर्मचारियों की पदोन्नति करने पर भी सहमति बन चुकी है।

अजय राजौर के मुताबिक कांग्रेस सरकार द्वारा गठित सफाई कर्मचारियों से संबंधित ढाँचे में संशोधन करने के लिए जो भी बिंदु लाये गए थे, जिनसे सफाई कर्मचारियों को नुकसान हो रहा था। उन बिंदुओं को कैबिनेट में लाकर जल्द समाप्त किया जाएगा।सफाई कर्मचारी अपनी इन मांगों को लेकर लंबे समय से आंदोलन कर रहे हैं। आंदोलन के दौरान जहां कर्मचारियों ने सफाई व्यवस्था ठप कर दी थी। हम आपको बता दें कि शहरी विकास मंत्री बंशीधर भगत के घर का घेराव किया था और जिसके बाद सीएम धामी से मुलाकात सफाई कर्मचारियों के द्वारा की गई थी वही सीएम ने कर्मचारियों की मांगों को माना और ऐसे में लग रहा है कि हड़ताल जल्दी खत्म हो सकती है

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.