तल्ख़ बगावती तेवर के लिए मशहूर भाजपा का यह पूर्व नेता होगा विपक्ष का राष्ट्रपति उम्मीदवार

ख़बर शेयर करें

पटना एसकेटी डॉट कॉम

कलेक्टर से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार तक पहुंचने वाले पूर्व आईएएस यशवंत सिन्हा राष्ट्रपति पद के लिए विपक्ष के संयुक्त उम्मीदवार होंगे l वह एनडीए की संयुक्त उम्मीदवार झारखंड की पूर्व राज्यपाल द्रौपदी मुरमू के साथ दो-दो हाथ करेंगे l

यशवंत सिन्हा बगावती तेवरों के लिए जाने जाते हैं आईएस होने की वजह से वह हमेशा अपना पक्ष साफ गोई के साथ रखते हैं चाहे उन्हें इसकी कितनी ही बड़ी कीमत चुकानी पड़ेl वह अपनी बात को सही ठहराने के लिए कई बार बड़ा कदम भी उठा लेते हैं जिससे उन्हें कई बार नुकसान भी हुआ है लिए

1960 में आईएएस की लिस्ट में वह पूरे भारतवर्ष में 12 वीं रैंक प्राप्त कर बिहार के संथाल परगना में जिला अधिकारी बने lइस दौरान उनकी एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री महामाया प्रसाद सिन्हा और उनके सिंचाई मंत्री के द्वारा जनता के बीच लगातार सवाल पूछे जाने से वह भड़क गए उन्होंने मुख्यमंत्री से यहां तक कह दिया कि सर आप तो मुख्यमंत्री हैं लेकिन आईएएस नहीं बन सकते हैं मैं आईएएस हूं और 1 दिन मुख्यमंत्री बन सकता हूं l जिसके बाद मुख्यमंत्री महामाया प्रसाद सिन्हा ने उनसे दूसरी नौकरी ढूंढ लेने को कहा l

जेपी आंदोलन के दौरान वह जयप्रकाश नारायण के निकट आ गए और उन्होंने रिटायरमेंटके 12 वर्ष पूर्व ही सरकारी नौकरी छोड़ दी और जनता पार्टी में शामिल हो गए l 1989 में बीपी सिंह के प्रधानमंत्री बनने के बाद उन्होंने बी पी सिंह द्वारा उन्हें राज्य मंत्री बनाए जाने से वह नाराज हो गए l उन्होंने कैबिनेट मंत्री बनाने की मांग की थी अब उनकी मांग पूरी नहीं हुई तो वह कैबिनेट से ही हट गएl

चंद्रशेखर के प्रधानमंत्री बनने उनके नजदीक आने से उन्हें वित्त मंत्री बनाया गया 8 महीने वित्त मंत्री रहने के बाद जब कांग्रेस के समर्थन वापस लेने से चंद शेखर की सरकार गिर गई तो कुछ दिन बाद ही उन्होंने भाजपा का हाथ पकड़ लियाl

अटल बिहारी वाजपेई की सरकार में वह 1998 और 19 99 मैं वित्त और विदेश मंत्री रहेl उन्होंने मोदी सरकार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में राफेल घोटाले को लेकर f.i.r. दर्ज कराने को लेकर याचिका दी लिए

वर्ष 2018 में भाजपा की स्थिति अच्छी नहीं होने की बात कहकर उन्होंने पार्टी से इस्तीफा दे दिया और टीएमसी में शामिल हो गए l विपक्ष की ओर से संयुक्त उम्मीदवार बनाया गया है l पटना में शरद यादव के आवास पर विपक्षी नेताओं की बैठक के दौरान उन्हें राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार बनाया गया है का मुकाबला एनडीए की उम्मीदवार द्रौपदी मुरमू के साथ होगाl

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.