बड़ी खबर- इन्होंने लगाया गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी पर यह गंभीर आरोप

ख़बर शेयर करें

किसान आयोग के उपाध्यक्ष और गुरुद्वारा रिसीवर कार्यकाल में प्रबंधक कमेटी के सलाहकार रहे राजपाल सिंह ने गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी पर गुरुद्वारा हित में कार्य न करने का आरोप लगाया । उन्होनें कहा कि आपसी विवाद के चलते गुरुद्वारा साहिब की ओर से संचालित स्कूलों में नियुक्तियां नहीं हो पा रही हैं।

वर्तमान गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के कार्यकाल को एक वर्ष होने जा रहा है। लेकिन सदस्यों के आपसी विवाद के चलते गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के बायलॉज का नवीकरण नहीं हो सका है। संगत को वर्तमान कमेटी से बेहद उम्मीदें थीं। परंतु वर्तमान पदाधिकारी व सदस्य आपसी विवाद में ही उलझे हुए हैं। वहीं पर्यटन विभाग की ओर से बनाई गई पार्किंग को तोड़कर वहां दीवान हाल बनाया जा रहा है जबकि पास में ही सुलभ शौचालय है। जिसके तहत पार्किंग हटाने से बाहर से आने वाले श्रद्धालु अपने वाहन को गुरुद्वारे के सामने ही पार्क कर रहे हैं।

इससे भारी परेशानी का सामना करना पड़ा है। और संगत में रोष है। गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की ओर से संचालित गुरुनानक इंटर कॉलेज एवं गुरुनानक बालिका इंटर कॉलेज में लगभग 27 पद रिक्त चल रहे हैं।अस्थायी नियुक्ति कर संगत का लाखों रुपये प्रति महीने उनके वेतन पर खर्च किया जा रहा है। राजपाल ने आरोप लगाया हैं कि वर्तमान पदाधिकारी गुरुद्वारा साहिब कार्यालय में कम आते हैं जिसके चलते हस्ताक्षर कराने के लिए उनके आवास पर जाना पड़ता है।

और हजारों रुपया आने-जाने में खर्च हो जाता है। अगर गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने अपनी कार्यप्रणाली नहीं बदली तो शीघ्र संगत के साथ प्रबंधक कमेटी का घेराव किया जाएगा।इस दौरान वहां ज्ञानी करनैल सिंह, गन्ना सोसायटी खटीमा के चेयरमैन भगवंत सिंह खालसा मौजूद थे। वहीं गुरुद्वारा श्री नानकमत्ता साहिब प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष हरबंश सिंह चुघ का कहना हैं कि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की ओर से सर्वसम्मति एवं सामूहिक निर्णय लेकर गुरुद्वारा हित में कार्य किया जा रहा है। गुरुद्वारा साहिब के बायलॉज पर उन्होंने हस्ताक्षर कर दिया है।

कुछ सदस्यों के हस्ताक्षर रह गए हैं। मौजूद गुरुद्वारा कमेटी के जनरल सेक्रेटरी अमरजीत सिंह ने कहा कि सभी सदस्यों के बायलॉज पर शीघ्र हस्ताक्षर हो जाएंगे। और शीघ्र नवीनीकरण कराया जाएगा। चुघ ने कहा कि पुरानी कमेटी की ओर से पार्किंग तोड़कर दीवान हाल का निर्माण शुरू किया गया था।

वर्तमान में कमेटी की ओर से सर्वसम्मति से ही लिए गए निर्णय से कार्य किया जा रहा है। गुरुद्वारा साहिब की ओर से प्रधान पद के लिए दिए वाहन का वह प्रयोग नहीं करते हैं। वह गुरुद्वारा साहिब हर मीटिंग में आते हैं। कभी कभार हस्ताक्षर कराने उनके आवास पर जाना कोई नई बात नहीं है।

Ad Ad Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.