घोर कलयुग – नशेड़ी मां ने अपनी पुत्री को जान से मारने की की कोशिश, पुलिस ने बमुश्किल बचाया नाबालिक को

ख़बर शेयर करें

अल्मोड़ा एसकेटी डॉट कॉम

यहां अल्मोड़ा के बेस चिकित्सालय में अपने परिवार के साथ रह रही नर्स के सामने ही उसकी बहू ने पोती की जबरदस्त पिटाई लगा दी वह उसे जान से मारने की बात कह रही थी इस से घबराई नर्स ने पुलिस को फोन कर दिया जिसके बाद वहां पहुंची पुलिस ने बड़े संघर्ष के बाद उस नशेड़ी मां से उसकी बच्ची को बचाया

बेस अस्पताल परिसर अल्मोड़ा में रहने वाली एक नर्स ने अपनी बहू पर तीन महीने की मासूम बेटी की बेरहमी से पिटाई कर जान लेने की कोशिश का आरोप लगाया है।

आरोप है कि नशे के लिए वह ढाई लाख रुपये की मांग कर रही थी। पैसे नहीं मिलने पर उन्हें भी जान से मारने की धमकी दी गई। पुलिस ने बहू के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

पुलिस के अनुसार नर्स स्नेहलता बेस अस्पताल में अपने परिवार के साथ रहती है। उनके परिवार में बेटा, बहू और तीन महीने की पोती है। स्नेहलता का आरोप है कि बुधवार की देर शाम उनकी बहू पार्वती दीक्षित उर्फ कशिश ने अपनी मासूम बेटी की बेरहमी से पिटाई कर दी।

आरोप है कि उसने बच्ची का गला दबाकर जान से मारने की कोशिश भी की। पति शिवम और सास ने 112 नंबर डायल कर घटना की सूचना दी। बेस चौकी प्रभारी नेहा राणा के नेतृत्व में पुलिस मौके पर पहुंची और पार्वती को दबोच लिया। स्नेहलता का आरोप है कि वह ढाई लाख रुपये की मांग कर रही थी। पैसे नहीं मिलने पर उन्हें भी मारने की धमकी दे रही थी। स्नेहलता का यह आरोप है कि बहू पार्वती नशे का सेवन करती है।

बृहस्पतिवार को चाइल्ड हेल्पलाइन के केंद्र समन्वय संतोष जोशी, ईश्वर सिंह मेहरा, कृति बिष्ट ने बच्ची का मेडिकल परीक्षण कराया। बच्ची को शिशु सदन बख में संरक्षण के लिए भेज दिया गया है। इस मामले में स्नेहलता के खिलाफ हत्या के प्रयास समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया।
मां की ओर से अपनी मासूम बेटी की पिटाई करने का मामला सामने आया है। पुलिस के मौके पर पहुंचने से उसकी जान बचा ली गई। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.