खनन व्यवसायियों ने दी चेतावनी- रॉयलटी कम और भाड़ा नही बडा तो कर देंगे ऐसा …

ख़बर शेयर करें

लालकुआ एसकेटी डॉटकॉम

खनन व्यवसाय जिसकी वजह से हजारों लाखों लोगों को रोजगार मिलता है क्रेशर संचालकों वह खनन व्यवसायियों के बीच भाड़ा बढ़ाने को लेकर चल रही तकरार थमने का नाम नहीं ले रही है जिसकी वजह से यह कारोबार चौपट होता जा रहा है। सरकार की ओर से बढ़ाई गई रॉयल्टी को कम करने की मांग तथा क्रेशर संचालकों से भाड़ा बढ़ाए जाने की मांग को लेकर खनन व्यवसायियों ने स्थानीय विधायक नवीन दुमका के आवास पर घेराव किया उन्होंने विधायक से कहा कि सरकार से रॉयल्टी कम कराई जाए साथी क्रेशर संचालकों पर दबाव डालकर भाड़ा बढ़ाया जाए जिससे खनन का व्यवसाय चल पड़े और विकास कार्यों के अलावा और लोगों के चूल्हे चौके भी जल उठे।

विधायक नवीन दुमका ने कहा कि वह क्रेशर संचालकों और खनन व्यवसायियों की वार्ता तो करा सकते हैं लेकिन उन पर भाड़ा बढ़ाने का दबाव नहीं डाल सकते हैं इस पर खनन व्यवसाई भड़क उठे उन्होंने कहा कि वह खनन से जुड़े हुए वाहन स्वामियों ट्रक चालकों तथा मजदूरों के प्रतिनिधि हैं ना कि सिर्फ क्रेशर संचालकों के। उन्होंने कहा कि अगर यह भाड़ा नहीं बढ़ाया गया और सरकार से रॉयल्टी कम नहीं की गई तो वह अपने वाहनों को सरेंडर करा देंगे जिससे उनके परिवारों की रोजी रोटी की जिम्मेदारी सरकार की होगी।

इस मामले पर वहां मौजूद भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ खनन व्यवसायियों की तीखी झड़प भी हो गई जिसके बाद मामला गरम हो गया किसी तरह से विधायक ने हस्तक्षेप कर मामले को ठंडा किया और सभी खनन व्यवसायियों को आश्वासन दिया कि वह उनकी बातों को लेकर सरकार तथा क्रेशर संचालकों से वार्ता करेंगे

खनन व्यवसायियों में मुख्य रूप से ग्राम प्रधान रमेश जोशी, हेम दुर्गापाल, वीरेंद्र दानू, हेम जोशी, जीवन सिंह बोरा, विजय खोलिया, अमित भट्ट, तारा सिंह नगरकोटी, पम्मी सैफी और अरशद अयूब सहित सैकड़ों खनन व्यवसाई शामिल थे। वही विधायक आवास में भाजपा नेता इंदर सिंह बिष्ट और बिंदुखत्ता मंडल अध्यक्ष दीपक जोशी भी मौजूद रहे।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *