डोली भरोसे पहाड़ों की स्वास्थ्य सुविधाएं, 12 किमी पैदल चलकर मरीज को ले गए रोड तक, फिर पहुंचाया अस्पताल

ख़बर शेयर करें



पिथौरागढ़ से एक बार फिर पहाड़ पर विकास के दावों की पोल खोलती खबर सामने आई है। जहां सड़क ना होने के कारण मेतली गांव निवासी एक व्यक्ति के बीमार होने पर उसे 12 किमी पैदल डोली से सड़क तक ले जाया गया। जहां से 108 एंबुलेंस के माध्यम से मरीज को डीडीहाट अस्पताल पहुंचाया गया।

Ad
Ad

पहाड़ों पर स्वास्थ्य सुविधा और सड़कें बनाने की बात को अधिकारी करते हैं लेकिन अक्सर ये बातें महज जुमला साबित होती हैं। पहाड़ों से कुछ ऐसी तस्वीरें सामने आती हैं जो इन दावों की पोल खोल कर रख देती हैं। पिथौरागढ़ से एक बार फिर ऐसी ही तस्वीर सामने आई है।

मिली जानकारी के मुताबिक धारचूला विकासखंड के मेतली गांव निवासी एक व्यक्ति की तबीयत खराब हो गई। रोड ना होने के कारण गांव वालों को मरीज को 12 किमी पैदल चलकर सड़क तक लाना पड़ा। जिसके बाद 108 एंबुलेंस के माध्यम से मरीज को अस्पताल पहुंचाया गया।

नहीं हो पाई हेली सेवा की व्यवस्था
बताया जा रहा है कि मेतली निवासी इंद्र सिंह (46) पुत्र त्रिलोक सिंह के शरीर में अचानक से सूजन आ गई। सूजन इतनी बड़ गई कि उनको चलने-फिर भी नहीं पा रहे थे। उनकी स्थिति को देखते हुए परिजनों ने जिला प्रशासन से हेली की व्यवस्था करने की मांग की। जिला प्राशासन ने हेली की व्यवस्था करने का आश्वासन तो दिया लेकिन लेकिन उन्हें हेली पहुंची नहीं।

डोली की सहायता से लाए सड़क तक
हालात ज्यादा खराब होने के कारण गांव वाले डोली की सहायता से बदहाल रास्तों से मानसून में उन्हें लेकर रोड तक पहुंचे। जिसके बाद एंबुलेंस बुलाई गई और उन्हें डीडीहाट सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया गया। जहां प्राथमिक उपचार देने के बाद उन्हें हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है।