कांग्रेस ने की सचिवालय कूच की तैयारी,नेता प्रतिपक्ष ने कही ये बात

ख़बर शेयर करें

अंकिता भंडारी हत्याकांड, महंगाई और बेरोजगारी सहित अन्य मुद्दों को लेकर कांग्रेस 21 नवंबर को सचिवालय कूच करने जा रही है। पूर्व नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने कार्यकर्ताओं से सचिवालय कूच के लिए भारी संख्या में राजधानी देहरादून पहुंचने का आह्वान किया है।


अंकिता भंडारी हत्याकांड, यूकेएसएसएससी भर्ती घोटाले, विधानसभा बैक डोर भर्ती घोटाले की सीबीआई जांच की मांग और किरण नेगी हत्याकांड की सीबीआई जांच कराये जाने, महंगाई, सिस्टम और सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, घ्वस्त कानून व्यवस्था, विभिन्न परीक्षाओं में चयनित अभ्यार्थियों को जल्द नियुक्ति देने, मलिन बस्तियों के नियमितीकरण और मालिकाना हक देने सहित अन्य के मामलों को लेकर कल सचिवालय कुछ करने जा रहे कांग्रेस विधायक प्रीतम सिंह ने दावा किया है कि वह मुख्यमंत्री को फूलों का गुलदस्ता भेंट करने जाएंगे यदि सरकार उनकी मांगों पर सीबीआई जांच की संस्तुति कर देती है।


प्रीतम सिंह ने कहा कि वह लगातार जनहित से जुड़े मुद्दों को लेकर सरकार के सामने अपनी मांगों का रख रहे हैं लेकिन अभी तक कोई ठोस पहल नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि 21 नवंबर को होने वाले प्रदर्शन में राज्य भर से तमाम लोग जुटेंगे जो सचिवालय कूच में भी दिखाई देंगे। उन्होंने कहा कि यदि उससे पहले सरकार उनकी मांगें मान लेती है तो वह आंदोलन को टाल देंगे।


महेंद्र भट्ट ने कहा भाजपा विकास यात्राओं का करती है समर्थन
कांग्रेस विधायक प्रीतम सिंह द्वारा कल होने वाले प्रदर्शन को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने गुटबाजी से प्रेरित प्रदर्शन बताते हुए कहा है कि प्रीतम सिंह विकास यात्रा निकाल रहे है। उन्होंने कहा कि कॉन्ग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने जब प्रीतम सिंह को अनुमति ही नहीं दी है तो फिर वह सरकार के खिलाफ प्रदर्शन न करके विकास यात्रा ही निकाल रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा विकास यात्राओं का हमेशा से ही समर्थन करती रही है।


प्रीतम ने महेंद्र भट्ट पर किया पलटवार
भाजपा अध्यक्ष महेंद्र भट्ट के बयान पर कांग्रेस विधायक प्रीतम सिंह ने पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस लगातार अंकिता भंडारी हत्याकांड, विधानसभा बैक डोर भर्ती, यूकेएसएसएससी मामले की सीबीआई जांच की मांग कर रही है और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष तब भी उनके आंदोलन को विकास यात्रा बता रहे हैं, जो समझ से परे है। उन्होंने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट का आह्वान करते हुए कहा कि महेंद्र भट्ट को भी उनके सचिवालय कूच में शामिल होना चाहिए यदि उन्हें सरकार की नाकामियां विकास के रूप में दिखाई देती है।


एसएलपी पर प्रीतम का बयान
सुप्रीम कोर्ट में एसएलपी को लेकर भाजपा के अंदर मचे विवाद और अब एसएलपी वापस न लेने के फैसले पर कांग्रेस ने सवाल खड़े किए हैं। कांग्रेस नेता प्रीतम सिंह का कहना है कि आखिर सरकार एसएलपी को अब क्यों वापस नहीं लेना चाहती। उन्होंने कहा कि कहा कि भाजपा की जीरो टॉलरेंस की सरकार सीबीआई जांच से क्यों डर रही है। प्रीतम ने कहा कि जब हाईकोर्ट ने सीबीआई जांच के आदेश दिए थे, तो सरकार को चाहिए कि वो सीबीआई जांच होने दे।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.