राजा दशरथ की 50 वीं वर्षगांठ पर विशेष- निर्मला मेरे लिए लक्की :भगत शादी के बाद लगातार सफलता ही मिली

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी एसकेटी डॉट कॉम

उत्तराखंड के लोकप्रिय नेताओं में से एक एवं पूर्व मंत्री बंशीधर भगत अपनी वैवाहिक जीवन के 50 वर्ष पूरे कर रहे हैं lइस लिए सुबह से लगातार उनके प्रशंसक उन्हें बधाइयां दे रहे हैं लगातार फोन की घंटी बज रही है l फोन पर ही भगत कार्ड पहुंचने की बात पूछ रहे हैं अगर कई लोग यह कह रहे हैं कि कार्ड नहीं पहुंचा तो भगत कह रहे कि अब मैं खुद ही फोन पर आपको कह दे रहा हूं कार्ड भी पहुंच जाएगा

बड़ी जल्द बाजी मे हुई थी शादी

बंशीधर भगत अपनी शादी की रोचक रोचक आज बताते हुए कहते हैं दूसरे प्रांत में नौकरी कर रहे थे तो उस समय उन्हें शादी करने के लिए बुलाया गया तथा यह शादी इमरजेंसी में हुई उन्हें यह बताया गया कि उनकी मां को कैंसर की बीमारी हो गई है तथा वह आपकी शादी करके बहू का मुंह देखना चाहती है

उन्होंने कहा कि जब वह निर्मला को देखने गए तो तो उन्हें बताया गया कि लड़की काफी लंबी है तो उन्होंने दीवाल पर खड़े होकर दोनों की लंबाई नापी लिए जो बराबर निकली l इसके बाद जब वह घर आए तो उन्हें यह कहा गया कि लंबी लड़की से शादी कर रहे हो दिखने में अजीब लगेगा l इस पर उन्होंने जवाब दिया कि शादी वह कर रहे हैं उसकी चिंता कोई और ना करें. उनका यह भी कहना था कि लंबी लड़की से शादी करके फिर बच्चे भी लंबे होते हैं और आगे की वंशावली सुधर जाती हैl

बंशीधर भगत का यह कहना है कि शादी करने के बाद वह लगातार सफलता की सीढ़ियां चढ़ते गए और उन्होंने फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा निश्चित रूप से निर्मला उनके लिए काफी भाग्यशाली रही l अपने वैवाहिक जीवन के बारे में उन्होंने कहा कि वह मैं आपको काफी भाग्यशाली मानते हैं कि उसके बाद उनके सभी बच्चे लगातार अपने जीवन की सीढ़ियां सफलतापूर्वक चढ़ते गए l

अपनी सफलता के पीछे वह अपने परिवार लोगों की हमेशा साथ खड़े होने की बात पर खुशी व्यक्त कीलिए वह अपने छह भाइयों के परिवार एवं अपने तीन पुत्रों, बहुओ और पुत्री और दामाद का इस अवसर पर साथ होने पर काफी गर्व और खुशी का अनुभव कर रहे हैंl वह अपने राजनीतिक जीवन से भी काफी संतुष्ट है इसके लिए वह अपने परिजनों एवं समर्थकों के अलावा पार्टी के कार्यकर्ताओं के विशेष आभारी हैं l सामाजिक जीवन मे भी वह हमेशा बढ़-चढ़कर भागीदारी करते रहे हैं l ऊंचापुल छेत्री ग्रामीण रामलीला में वह कई दशकों से राजा दशरथ की भूमिका निभा रहे हैं प्रभु राम की उनके जीवन में काफी कृपा रही है l

बंशीधर भगत की 50 वीं वर्षगांठ के अवसर पर उनके परिजनों द्वारा विशेष कार्यक्रम रखा गया है जिस जिसमें काफी संख्या में समर्थकों के पहुंचने वाले हैं l उन्होंने अपने समर्थकों से किसी भी प्रकार का उपहार लाने के लिए मना किया है उन्होंने लोगों की दुआएं और प्यार ही उनके लिए उपहार है

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.