#Punjab news पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री भाजपा में शामिल

ख़बर शेयर करें

Delhi /chandigarh news एसकेटी डॉट कॉम

Captain amrender singh पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरेंद्र से अपनी पार्टी पंजाब लोक कांग्रेश का भाजपा में विलय करते हुए भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए उन्हें केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने भाजपा का फटका पहनाकर पार्टी में शामिल किया इस मौके पर किरण रिजिजू भी मौजूद रहे.

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह सोमवार(19 सितंबर) को केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और किरेन रिजिजू की मौजूदगी में बीजेपी में शामिल हुए। इस मौके पर अमरिंदर के अलावा उनके कई सहयोगियों ने भी बीजेपी का दामन थामा। बता दें कि कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस मौके पर अपनी पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस (PLC) का भाजपा में विलय कर लिया है।

अमरिंदर सिंह के साथ कांग्रेस के पूर्व नेता और पंजाब विधानसभा के डिप्टी स्पीकर अजैब सिंह भट्टी भी बीजेपी में शामिल हुए हैं। भाजपा में शामिल होने के बाद पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र और गृह मंत्री अमित शाह का आभार व्यक्त किया।

अमरिंदर सिंह ने बताया कि भाजपा में शामिल होने को लेकर उन्होंने अपने समर्थकों से चर्चा की थी।कहा कि विचार-विमर्श के बाद तय हुआ कि पंजाब के बेहतर भविष्य के लिए पार्टी का भाजपा में विलय करना चाहिए। उन्होंने कहा कि भाजपा और हमारी विचारधारा समान है।

वहीं इस मौके पर केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा, “कैप्टन अमरिंदर सिंह जी का भाजपा में आना, इसके मायने हैं कि पंजाब में शांति और सुरक्षा के पक्षधर हैं। उनके आने से भारतीय जनता पार्टी का ताकत बढ़ेगी और पंजाब में विकास के लिए ऐतिहासिक कदम होगा।”तोमर ने कहा, “भारतीय जनता पार्टी एक ऐसी पार्टी है जिसमें हमेशा गर्व से कहा जाता रहा है कि सबसे पहले राष्ट्र और दूसरे नंबर पर पार्टी। इस सिद्धांत को कैप्टन अमरिंदर सिंह जी ने हमेशा अपने जीवन में अपनाया। इसी का परिणाम है कि आज हम सब लोग साथ-साथ हैं।”पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, किरेन रिजिजू, बीजेपी नेता सुनील जाखड़ और बीजेपी पंजाब प्रमुख अश्विनी शर्मा की मौजूदगी में बीजेपी में शामिल हुए। गौरतलब है कि पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 से पहले ही कैप्टन अमरिंदर सिंह कांग्रेस से अलग हो गए थे।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.