नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म मामले का पुलिस ने किया पर्दाफाश, प्रेमी और उसकी मां सहित छह गिरफ्तार

ख़बर शेयर करें


हरिद्वार के बहादराबाद थाना क्षेत्र में नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया था। इस मामले का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। इस मामले में पुलिस ने प्रेमी और उसकी मां के साथ ही छह आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जबकि आरोपी ग्राम प्रधान के पति के साथ ही तीन आरोपी अब भी फरार हैं।

Ad
Ad


नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। बहादराबाद थाना क्षेत्र में नाबालिग से पहले तो चार युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म किया। जैसे-तैसे अपने आप को संभाल कर किशोरी प्रेमी के पास पहुंची तो उसने हुस्से में आकर अपने घर में उसे पीटा फिर हाईवे पर ले जाकर एक वाहन के आगे फेंक दिया। ताकि हत्या को दुर्घटना दिखाया जा सके।

ऐसे दिया था घटना को अंजाम
मामले का खुलासा करते हुए एसएसपी ने बताया कि 23 जून की रात किशोरी के परिचित नितिन ने उसे मिलने के लिए बुलाया। आरोपी नितिन ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर उसके साथ गैंगरेप का प्लान पहले से ही बनाया हुआ था। किशोरी जब उनसे मिलने पहुंची तो नितिन और निखिल उसे बाइक पर बैठाकर शिवगंगा विहार तिराहा से लेकर गए। जिसके बाद तुषार उर्फ भोला व उसका दोस्त मौसम उन्हें आगे हाइवे पर मिले।

फिर वो लोग नाबालिग को बोंगला बाइपास रोड पर ले गए। यहां सभी ने बियर पी। इसके बाद वो नाबालिग को हरकी पैड़ी ले गए और फिर वापस आकर नितिन और निखिल ने रोहालकी जाने वाले रोड पर एक सुनसान जगह दुष्कर्म किया। तुषार और मौसम भी उसके साथ दुष्कर्म करने वाले थे लेकिन किसी के आने की आहट पर वहां से भाग निकले। उन्होंने नाबालिग को किसी को इस बारे में बताने पर जान से मारने की धमकी दी और उसे देर रात घर के पास छोड़कर भाग गए।

प्रेमी ने अज्ञात वाहन के सामने दे दिया धक्का
एसएसपी प्रमेंद्र सिंह डोबाल ने बताया कि अपने आप को संभालते हुए जब प्रेमी अमित सैनी के घर पहुंची तो उसकी मां, बहन और पिता भी घर पर ही थे। जब उसने अपने साथ सामूहिक दुष्कर्म की बात अमित सैनी को बताई तो वो भड़क गया और उसकी जमकर पिटाई की। इसके बाद उसे घर से भगा दिया। घर से जाते वक्त नाबालिग का सिर लोहे के गेट पर लगने से वो घायल हो गई।

जब नाबालिग जा रही थी तो अमित ने उसे रास्ते हटाने की सोची और उसका पीछा किया। रास्ते में ही उसे पकड़कर हत्या के इरादे से उस दिल्ली हरिद्वार हाईवे पर पतंजलि रिसर्च इंस्टिट्यूट के पास लाया। यहां अंधेरे का फायदा उठाते हुए उसने नाबालिग अज्ञात वाहन के सामने धक्का दे दिया जिस से उसकी मौत हो गई। जिसके बाद वो वहां से भाग गया।

सबकुछ था पता फिर भी प्रधानपति ने छुपाया राज
आरोपी प्रेमी ने इस बारे में अपने चचेरे भाई प्रधानपति आदित्य राज सैनी को जानकारी दी। घटना के अगले दिन किशोरी की मां प्रधानपति आदित्य राज सैनी के पास गई। लेकिन आदित्य राज सैनी ने सबकुछ जानते हुए भी ये बात उस से छुपाई और उसे गुमराह कर पुलिस के पास ना जाने की सलाह दी। उन्हें अपने स्तर पर जांच करने का आश्वासन भी दिया। लेकिन उसने इस बारे में पुलिस को कोई जानकारी नहीं दी। इस मामले का आरोपी प्रधानपति आदित्य राज सैनी और मित के पिता मदनपाल सैनी, उसकी बहन रूबी सैनी अब भी फरार हैं