दरवाजे पर पड़े समाचार पत्र से लोगों को हुआ शक,अंदर जाकर देखा तो उड़े होश

ख़बर शेयर करें

गोविंद बल्लभ पंत विवि में एक कर्मचारी का शव उनके ही सरकारी आवास में पड़ा मिला। मौत चार-पांच दिन पहले होने की आशंका जतायी जा रही है। मौत की वजह साफ नहीं हो सकी है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। साथ ही उनके स्वजनों को भी सूचित कर दिया गया है।


विवि के डीन ऑफिस में कार्यरत नीरज कुमार कांडपाल लगभग (42) कॉलोनी में 1713 नंबर आवास में रहते थे। कुछ वर्ष पूर्व नीरज का तलाक हो गया था, लिहाजा वह विवि आवास मे अकेले ही रहते थे। बताया जा रहा है कि चार-पांच दिन से नीरज के आवास पर समाचार पत्र आता था, लेकिन समाचार पत्र दरवाजे पर ही पड़े थे।

मुख्य द्वार पर बाहर से ताला भी नहीं था। यह देख आसपास रहने वाले अन्य कर्मियों और लोगो ने दरवाजा खुलवाने की कोशिश की तो काफी आवाजें देने पर भी दरवाजा नहीं खुला


कर्मचारियों ने विवि प्रशासन को जानकारी दी। विवि की सूचना पर पुलिस पहुंची और दरवाजा तोड़कर भीतर गए। भीतर नीरज का शव पड़ा मिला। आशंका है कि चार-पांच दिन पहले ही नीरज की मौत हो गयी थी। हालांकि, मौत की वजह क्या है यह साफ पता नहीं चल सका। देर शाम तक कांडपाल के परिजनों का इंतजार किया गया। पुलिस के अनुसार पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही साफ होगा कि विवि कर्मी के मौत का कारण क्या है।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.