कुख्यात अंकित गुर्जर का जेल में मर्डर, परिजनों का पुलिस पर आरोप

ख़बर शेयर करें

दिल्ली एसकेटी डॉट कॉम

देश की सबसे सुरक्षित मानी जाने वाली तिहाड़ जेल में बुधबार को अंकित गुर्जर का मर्डर हो गया। बैरक नंबर 3 में बंद कुख्यात अंकित गुर्जर की हत्या हो गई। जेल प्रशासन के अनुसार कैदियों में चल रहे वर्चस्व की लड़ाई में अंकित गुर्जर मारा गया वही अंकित के परिजनों ने पुलिस पर आरोप लगाया कि उन्होंने अंकित को पीट पीट कर मार डाला।3

जेल प्रशासनिक अधिकारियों के अनुसार बैरक संख्या तीन में अंकित गुर्जर मृत पाया गया इसे कैदियों के बीच संघर्ष का परिणाम बताया जा रहा है। अंकित गुर्जर बागपत के खेला गांव का रहने वाला था वह वहां के पूर्व प्रधान विनोद की हत्या में नामजद था। फरार होने के बाद उसे हरियाणा और दिल्ली पुलिस के बीच हुई मुठभेड़ के बीच में गिरफ्तार किया गया ।

पंचायत चुनाव में अंकित गुर्जर उर्फ बाबा के नाम का खौफ बागपत में देखा गया था जब उसके नाम के पोस्टर गांव में लगाए गए थे तथा विरोध में खड़े होने वाली को अंजाम भुगतने की चेतावनी दी गई थी। वर्तमान में वहाँ की प्रधान उसकी मां गीता देवी है पुलिस अधिकारियों ने आधिकारिक बयान में कहा है कि बुधवार की तड़के कैदियों में जमकर मारपीट हुई जिसमें अंकित की मौत हो गई।

अंकित के परिजनों ने पुलिस और जेल में शासन पर मिलीभगत का आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस ने ही उसे मार मार कर मौत की नींद सुला दिया। विगत दिनों अंकित के पास एक मोबाइल मिला था जिसके बाद जेल के एक अधिकारी की उस से झड़प हुई थी इस झड़प का बदला लेने के लिए पुलिस ने उसके साथ मारपीट की और पीट-पीट कर उसे मार दिया।

तिहाड़ जेल में हुए इस मर्डर से वहां की सुरक्षा व्यवस्था पर ही सवाल खड़े हो गए हैं पुलिस टॉप जेल के अंदर एक लाख के इनामी बदमाश की हत्या हो जाती है और पुलिस इस मामले में ऐसे कैदियों के बीच वर्चस्व की लड़ाई बता रही है

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *