न सत्ता पक्ष न विपक्ष कोई नहीं ले रहा है टेड़ी पुलिया नाले की सुध,दीपक ने संभाला मोर्चा कहाओवर फ्लो हुआ नाला तो लूंगा जल समाधि

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी एसकेटी डॉट कॉम

नैनीताल रोड पर टेढ़ी पुलिया के पास नाले के ओवरफ्लो होने से वाहन चालकों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है कई बार तो कारे डूब गई और कई दुपहिया वाहन बह भी गए.

लेकिन वर्षों से यहां पर से नाले का अतिक्रमण प्रशासन द्वारा नहीं हटाया गया जिसकी वजह से बरसात में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है ओवरफ्लो होने से नाले का पानी नैनीताल रोड में नहर बनकर रहता है पानी के इकट्ठा होने से कई बार अर्थिंग बन जाने से करंट भी लगा है पिछले वर्ष एक साइकिल सवार इस करंट की बलि चढ़ गया था.

जानकार लोगों ने बताया कि यह नाला का ऊपरी काठगोदाम क्षेत्र से पानी बहकर इस नाले से निकलता था ले लेकिन इस नाले पर अतिक्रमण होने से यह पानी अब आगे न बढ़ कर यहां से सड़क पर बहने लगता है. न तो नगर निगम और ना ही स्थानीय विधायक ने समस्या के बारे में कोई कार्रवाई की हैँ.

इस नाले से होने वाली दिक्कतों को देखते हुए कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता दीपक बलुटिया ने अब मोर्चा संभाल लिया है उन्होंने पिछले पखवाड़े में इस नाले के ओवरफ्लो आने के दौरान अपने छोटे ट्रैक्टर से मौके पर जाकर लोगों को नाले से बचने हमें काफी मदद की. बरसात में भीगते हुए लोगों को आगाह करते रहे कि नाले की तरफ ना जाए.

भारी बारिश होने की वजह से नाला एक बार उड़ान में आ गया प्रशासन और नगर निगम की ओर से कोई कार्रवाई नहीं होते देख दीपक बलुटिया फिर मौके पर पहुंचे उन्होंने इस बार हुंकार भरते हुए कहा कि यदि नाला दोबारा ओवरफ्लो हुआ तो वह है शासन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराएंगे इसके बाद भी अगर प्रशासन इस नाले को स्वतंत्र रूप से बहने लिए इसका रास्ता तैयार नहीं किया तो वह यहीं पर जल समाधि ले लेंगे हालांकि उनके बयान पर प्रशासन और सिंचाई विभाग क़े सतर्क होने की खबर है.

यहाँ के पुराने लोगों ने बताया कि नाले के ऊपर बृजलाल हॉस्पिटल के पीछे बनी कॉलोनी में बड़े धनाढ्यलोगों ने अतिक्रमण कर रखा है वही आगे जाकर पहले वेलेलोजी की तरफ आज भी गरीब लोगों ने नाले का की जगह छोड़ी हुई है.

यहां आपको बता दें कि हाई कोर्ट की रूलिंग है कि प्राकृतिक नालों के अगल-बगल 50 मीटर दूरी तब कोई भी निर्माण नहीं होना चाहिए अगर इस पर कोई शिकायत होती है तो कोर्ट के निर्देशों के अवहेलना होने पर उनके खिलाफ धवस्ती करण का आदेश भी हो सकता है

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.