अंतरिक्ष से NASA ने शेयर की चौंकाने वाली तस्वीर, बादलों से ऊपर की तरफ जा रहे हैं बिजली के फव्वारे, जानें कारण

ख़बर शेयर करें

nasa share gigantic jets photo colourful lightning

हाल ही में NASA ने एस्ट्रोनॉमी पिक्चर ऑफ द डे की तरफ से एक फोटो शयर की जो हिमालय के उपर दिख रही विचित्र रोशनी की है। जैसे ही ये फोटो सामने आई इसने सबको हैरत में डाल दिया। लोग इस सोच में पड़ गए की ये रोशनी है किस चीज की। इस पिक्चर को देख लोग अनुमान लगा रहे हैं कि चार लंबे लंबे जेट अंतरिक्ष की ओर जा रहे हैं। आइए जानते हैं हिमालय की ऊपर दिख रही ये विचित्र रोशनी क्या है और क्यों ये दिखाई देती है।

Ad
Ad

NASA द्वारा शेयर की गई तस्वीर

बता दें कि नासा द्वारा शेयर की गई ये तस्वीर भूटान के हिमालय की हैं। जिसे नासा (NASA) अपने पिक्चर ऑफ द डे में शेयर किया है। इन तस्वीरों को देखकर आप भी हैरत में पड़ गए होंगे की आखिर इन तस्वीरों में दिख रही रोशनी कैसी है कहीं ये lightning strike तो नहीं या ये किसी स्पेश शिप के आने की आहट है।

ऐसे में आपको बता दें कि ना ये कोई स्पेश शिप है ना ही आम lightning strike जो बादलों से नीचे आती है। बल्कि ये विचित्र रोशनी बादलों से ऊपर की तरफ जाती है। दरअसल इस बिजली को जाइगैंटिक जेट्स (Gigantic jets) कहा जाता है। ये बादलों से 80 किमी ऊपर यानी आयनोस्फेयर तक जाती है।

NASA’s ‘Picture of the Day’ stunned viewers with gigantic jets soaring over the Himalayas!

These aren’t your average lightning strikes; they shoot upwards, reaching over 80 km high into the ionosphere — nearly brushing the edge of space!https://t.co/xqb2QVx0e0 pic.twitter.com/IlQ7lG7j8W— The Weather Channel India (@weatherindia) June 21, 2024

जानें बादलों से ऊपर की तरफ क्यों रहे हैं बिजली के फव्वारे

जहां से ये जाइगैंटिक जेट्स निकलते हैं उसे ब्लू जेट कहा जाता है। वहीं इसकी ऊपरी शाखा को रेड स्प्राइट्स के नाम से जाना जाता है। ये जाइगैंटिक जेट्स स्ट्रैटोस्फेयर से निकलने वाले ऐनेर्जी के पार्टिकल्स हैं जो तेज थंडरस्टॉर्म से पैदा होने वाले electric current से बनते हैं। जब आयनोस्फेयर में ज्यादा electric current का ज्यादा फ्लो जाता है तब बादलों के ऊपर ऐसे लाइट्स दिखाई देती है जो जमीन से करीब 80 किमी ऊपर बनती हैं।

ज्यादातर ये किसी जेलीफिश या गाजर के शेम में दिखाई देती है इनकी ऐवरेज लंबाई और चौड़ाई 18 किमी तक हो सकती है। वैसे इन्हें धरती से देखना आसान नहीं है। हम इसे प्लेन या फिर किसी space station से देख सकते हैं। सिर्फ धरती ही नहीं बल्कि इन्हें बृहस्पति ग्रह के वायुमंडल में भी देखा गया था।

क्या खतरनाक हैं ये Gigantic jets?

देखने में ये जितनी खूबसूरत और आकर्षक होती है ये उतनी ही खतरनाक भी है बता दें की ये नार्मल बिजली से 50 गुना ज्यादा ताकतवर हो सकती है। सारी दुनिया की बात करें तो ये बिजलियां सालभर में तकरीबन 1000 बार ही दिखाई पड़ती हैं। हालांकि इसपर अभी भी शोध जारी है