मां ने गला घोंटकर 7 माह की बेटी को मार डाला, खुद ही पुलिस को दी सूचना

ख़बर शेयर करें

घरौंडा।अक्सर माता-पिता संतान प्राप्ति के लिए मंदिर मस्जिद व गुरुद्वारों में मत्था टेकने के लिए जाते हैं और भगवान से दुआ करते हैं कि उनके घर में एक औलाद पैदा हो जाए लेकिन अगर खुद ही एक मां अपने बच्चे की कातिल बन जाए तो इसे क्या कहेंगे।ऐसे ही एक मामला गांव से शेखपुरा खालसा में गठित हुआ है जहां एक कलयुगी मां ने अपने हाथों से ही अपनी ममता का कथित गला घोट दिया इतना ही नहीं महिला ने खुद ही पुलिस को फोन करके पूरी घटना की जानकारी भी दे दी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई और महिला को अपनी हिरासत में लेकर थाने में ले गई। पुलिस व एफएसएल की टीम ने मौके पर पहुंचकर बच्ची के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए करनाल भेज दिया है। वही महिला के मायके वालों ने पूरे मामले में संदेह प्रकट करते हुए पुलिस से निष्पक्षता की जांच की मांग की है।

गांव बयाना के रहने वाली महिला प्रियंका की शादी शेखपुरा गांव के संदीप के साथ वर्ष 2020 में हुई थी। संदीप पुलिस में नौकरी करता है और चुनाव के दौरान उसकी ड्यूटी कैथल लगी हुई थी। पुलिस सूत्रों अनुसार महिला प्रियंका ने आज सुबह डायल 112 पर फोन करके बताया कि उसने खुद ही अपनी 7 माह की बच्ची का गला घोट दिया है जैसे ही पुलिस को इस मामले की सूचना मिली पुलिस तुरंत ही गांव में पहुंच गई और महिला के घर जाकर पूरी जानकारी लेते हुए महिला को अपनी हिरासत में ले लिया। जैसे ही इस घटना की जानकारी गांव के लोगों को लगी बड़ी मात्रा में ग्रामीण संदीप के घर पहुंच गए। और तरह तरह की चर्चाओं ने जन्म लेना शुरू कर दिया।

महिला के पति संदीप ने बताया कि उसकी पत्नी पिछले काफी समय से डिप्रेशन में थी और उसका इलाज चला हुआ था लेकिन प्रियंका ने यह कार्य क्यों कर डाला वह उसकी समझ से परे है संदीप व उसका पूरा परिवार सदमे में है। पूरे तथ्यों को जुटाने के लिए पुलिस बल भी मौके पर पहुंच गया ओर एफ एस एल की टीम ने मौके पर पहुंचकर बच्ची के शव को अपने कब्जे में लेकर कर नाल पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। घटना की सूचना महिला के मायके वालों के भी दे दी गई करीब एक घंटे के बाद मायके वाले मौके पर पहुंच गए और उन्होंने संदेह व्यक्त किया व कुछ समय के लिए ससुराल वालों से कहासुनी भी हुई। महिला के पति संदीप ने बताया कि वह अपनी पत्नी से बेहद प्यार करता था और वह मधुबन में ही तैनात था हर रोज वह शाम के समय घर आ जाया करता था चुनाव के चलते अभी उसकी ड्यूटी कैथल में लगी हुई थी। खुद प्रियंका द्वारा इस प्रकार का कृत्य करने से परिजनों के अलावा पूरा गांव सदमे में है।

वही महिला के पिता बीर सिंह का कहना है कि उसकी पुत्री प्रियंका शिक्षित है और वह इस प्रकार का कार्य हरगिज नहीं कर सकती उन्होंने बताया कि प्रियंका कुछ समय से बीमार अवश्य थी और उसकी दवाई चल रही थी लेकिन प्रियंका खुद ही अपने हाथों से अपनी ममता का गला घोट दे ऐसा संभव नहीं है। प्रियंका के पिता ने पुलिस से पूरे मामले की निष्पक्षता से जांच करते हुए न्याय की मांग की है।

प्रियंका के पिता ने बताया कि प्रियंका कुछ बीमार अवश्य थी और उसकी दवाई भी चली हुई थी करीब 2 माह पूर्व प्रियंका अपने मायके गई हुई थी और प्रियंका ने उसे यह जरूर कहा था कि पिताजी संदीप की शादी और कहीं करवा दो। लेकिन ने इसे हल्के में लिया और अपनी पुत्री को समझाया कि क्या तुम वहां खुश नहीं है परमात्मा ने तुम्हें फूल सी बच्ची भी है उसको पालन और अपने जीवन का निर्वाह कर। महिला के मायके वालों को यह विश्वास कतई नहीं है कि उनकी बेटी प्रियंका इस प्रकार का कार्य भी कर सकती है।

शेखपुरा खालसा गांव की एक महिला प्रियंका ने डायल 112 पर फोन करके सूचित किया था कि उसने अपनी बच्ची का गला घोट दिया है सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई पुलिस ने महिला को हिरासत में लेकर बच्ची के शव को पोस्टमार्टम के लिए करनाल भिजवा दिया है पुलिस सभी एंगल पर जांच कर रही है। – थाना प्रभारी दीपक कुमार

Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.