यहां पुलिस ने महिला को आत्महत्या के लिए उकसाने वाला एक आरोपी किया गिरफ्तार

ख़बर शेयर करें

राज्य के उधम सिंह नगर जिले से हत्या को लेकर एक बड़ी खबर सामने आ रही है जानकारी के अनुसार बता देमहिला को आत्महत्या के लिए उकसाने वाले एक आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। महिला की आत्महत्या करने के बाद वह पहचान छुपाने को सिर मुड़वाकर मुंबई में रह रहा था। एसपी सिटी मनोज कत्याल ने बताया कि बंगाली कॉलोनी, किच्छा के रहने वाले मनोज शर्मा ने 27 जुलाई को एक मुकदमा पंजीकृत कराया था। उसने रितेश साहनी नाम के व्यक्ति को नामजद करते हुए अपनी पत्नी को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया था। रितेश एफआईआर के बाद से ही फरार चल रहा था। एसओजी ने उसकी लोकेशन ट्रेस की तो मुंबई में आई। पुलिस मुंबई पहुंची तो रितेश वहा से फरार हो चुका था। अब उसकी लोकेशन गुजरात आ रही थी। पुलिस ने गुजरात पुलिस की मदद से रितेश साहनी पुत्र पंच देव साहनी जिला बलिया उत्तर प्रदेश को ग्राम चनौद वापी थाना डुगरी, जिला वलसाड से गिरफ्तार कर लिया।

रितेश ने बताया कि अंजली शर्मा उर्फ मुन्नी शर्मा उसके गांव के पास सिमरी की रहने वाली थी। अंजली शर्मा से 1 साल पहले उसकी फेसबुक से दोस्ती हुई। एक साल से वह दोनों रिलेशनशिप में रह रहे थे। वह जानता था कि अंजलि शादीशुदा है। जब उसका पति बाहर जाता था तो वह उसके घर पर बंगाली कॉलोनी आ जाता था। 15 जुलाई को अंजलि अपने घर से दिल्ली आई और दोनों नोएडा के होटल में रूके। अगले दिन अंजलि से उसका मनमुटाव हो गया। रितेश ने बताया कि उसने अंजलि को साथ रखने से मना कर दिया तो अंजली अपने घर वापस किच्छा आ गई। 25 जुलाई को उसने आत्महत्या कर ली।

इसकी जानकारी जब रितेश को हुई तो वह डर के चलते मुंबई भाग आया और 10 15 दिन मुंबई में रहने के बाद गुजरात में ग्राम चनोद वापी थाना डूंगरी, जिला वलसाड आ गया। उसने अपनी पहचान छुपाने के लिए बाल मुंडवा लिए। अभियुक्त रितेश को गुजरात में पेश किया गया और वहां से 28 सितंबर को उसका ट्रांजिट रिमांड स्वीकृत किया गया। एसपी सिटी ने बताया कि अभियुक्त को पेश किया जा रहा है। उसको गिरफ्तार करने वाली टीम में शामिल चौकी प्रभारी दरऊ उप निरीक्षक बसंत प्रसाद, कांस्टेबल उमेश सिंह और एसओजी टीम के उप निरीक्षक विकास चौधरी व कांस्टेबल भूपेंद्र सिंह को ₹5000 का नगद इनाम एसएसपी ने देने की घोषणा की है।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.