ग्रेजुएट करने वाले छात्रों के लिए खबर अब 3 की बजाय 4 साल में हो पाएगी अंडर ग्रेजुएशन

ख़बर शेयर करें

haldwani ugc news एसकेटी डॉट कॉम

इस वर्ष के बाद आगामी शैक्षणिक वर्ष 2023- 24 से अंडर ग्रेजुएशन करने वाले छात्र-छात्राओं के लिए नई खबर है हम ग्रेजुएशन टीम के बजाय 4 साल में होगी. इस तरह का कार्यक्रम यूजीसी ने तय कर दिया है नए पाठ्यक्रम में अब 4 वर्षीय अंडर ग्रेजुएशन पॉलिसी तैयार कर ली गई है.

बीएससी-बीकॉम करने वाले जिन लोगों को अब तक 3 साल में ही ग्रेजुएशन की डिग्री मिल जाती थी, उनके लिए बड़ी खबर है। अब उनकी ग्रेजुएशन की डिग्री तीन साल में नहीं बल्कि 4 साल में मिलगी। दरअसल, फोर ईयर अंडरग्रेजुएट पाठ्यक्रम (FYUP) की रूपरेखा बनकर तैयार है।

आने वाले शैक्षणिक सत्र 2023-24 से सभी विश्वविद्यालयों के नए छात्र 4 वर्षीय अंडर ग्रेजुएट पाठ्यक्रमों (बीए, बीकॉम, बीएससी) आदि में दाखिला ले सकेंगे। यूजीसी ने 4 वर्षीय अंडर ग्रेजुएट पाठ्यक्रमों के लिए सभी आवश्यक नियम और दिशानिर्देश तैयार किए हैं। यूजीसी के अनुसार अगले सप्ताह, 4 वर्षीय अंडर ग्रेजुएट पाठ्यक्रमों के यह नियम देश के सभी विश्वविद्यालयों के साथ साझा किए जाएंगे।


देश के सभी 45 केंद्रीय विश्वविद्यालयों में अगले सत्र से 4 वर्षीय अंडर ग्रेजुएट पाठ्यक्रमों को लागू कर दिया जाएगा। सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों के साथ अधिकांश राज्यस्तरीय और प्राइवेट विश्वविद्यालय भी 4 वर्षीय अंडर ग्रेजुएट पाठ्यक्रमों को लागू करेंगे। इसके अलावा देश भर की कई ‘डीम्ड टू बी यूनिवर्सिटी’ भी इस 4 वर्षीय अंडर ग्रेजुएट कार्यक्रम को लागू करने के लिए अपनी सहमति प्रदान करने जा रही हैं।

Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.