भ्रष्ट आईएएस रामविलास यादव को विजिलेंस ने किया अंदर , सीएम धामी के कड़े अंदाज के बाद हुई यह कार्यवाही

ख़बर शेयर करें

एसकेटी डॉट कॉम

आय से अधिक संपत्ति के मामले में विजिलेंस ने आईएएस रामविलास यादव को बुघवार की देर रात गिरफ्तार कर लिया। सीएम धामी ने आईएएस यादव की जॉच के आदेश देते हुए कड़े कदम उठाने के आदेश दिए थे।यादव की गिरफ्तारी से नौकरशाही में भारी हलचल देखी जा रही है। बुधवार की शाम यादव को निलंबित कर दिया गया था।विजिलेंस के डायरेक्टर अमित सिन्हा ने गिरफ्तारी की पुष्टि की।

बुधवार को विजिलेंस ने यादव से करीब आठ घण्टे पूछताछ की। यादव से पूछताछ में कई अहम सुराग हाथ लगे है। लखनऊ व देहरादून में यादव ने करोड़ों की संपत्ति बनाई। हाल ही में विजिलेंस ने यादव के कई ठिकानों पर छापा मारकर करोड़ों रुपए मूल्य की चल अचल संपत्ति का पता लगाया था।

योगी सरकार ने भी आईएएस रामविलास यादव के खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए जांच के आदेश दिए थे।

इससे पूर्व, बुधवार की दोपहर हाईकोर्ट के कड़े रुख के बाद आईएएस रामविलास यादव बुधवार को विजिलेंस के दफ्तर पहुंचे। दोपहर 1 बजे विजिलेंस के दफ्तर में जाने से पहले रामविलास यादव ने मीडिया से कोई बात नहीं की। आय से अधिक संपत्ति केमामले में घिरे रामविलास के साथ उनके वकील भी थे। यादव के आते ही सुरक्षा कर्मियों ने गेट बन्द कर दिया था।

गौरतलब है कि रामविलास यादव 30 जून को रिटायर हो रहे हैं। आय से अधिक संपत्ति के मामले में रिपोर्ट दर्ज होने के बाद विजिलेंस के गाजीपुर, लखनऊ, गाजियाबाद व देहरादून में पड़े छापे में करोड़ों रुपए मूल्य की चल अचल संपत्ति का पता चला है।

सपा सरकार के समय यादव लखनऊ विकास प्राधिकरण के सचिव भी रहे। लेकिन 2019 में उत्तराखंड आ गए। यहां भी छह साल तक समाज कल्याण विभाग में जमे रहे।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.