पहाड़ से गिरे मलबे की चपेट में आने से 3 लोगों की मौत

ख़बर शेयर करें

उत्तराखंड और हिमाचल की सीमा पर मीनस पुल के पास राष्ट्रीय राजमार्ग 707 के चौड़ीकरण कार्य के दौरान अचानक पहाड़ से गिरे मलबे की चपेट में आने से 3 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक एक युवक की मौके पर मौत और दो लोगों ने उपचार को ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया इसके अलावा एक और व्यक्ति गंभीर रूप से घायल है जिसको हिमाचल के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है।उत्तराखंड और हिमाचल के चार जिलों जिसमें सिरमौर शिमला देहरादून और उत्तरकाशी जनपद के सीमावर्ती ग्रामीण इलाकों को जोड़ने वाले जगाधरी-पावंटा-राजवन-रोहड़ू राष्ट्रीय राजमार्ग 707 का चौड़ीकरण का काम चल रहा है।

जहां निर्माण कार्य के दौरान वाहनों की आवाजाही रोकी गई थी इस दौरान सीमांत त्यूणी तहसील के देवघार खत के सेंज अटाल निवासी कान चंद टैक्सी गाड़ी लेकर सवारियों के साथ सामान खरीदारी के लिए विकासनगर जा रहे थे रास्ते में जहां मार्ग अवरुद्ध होने पर कान चंद गाड़ी से नीचे उतर कर सड़क निर्माण कार्य देखने लगे इस बीच निर्माणाधीन चौड़ीकरण मार्ग पर पहाड़ से भारी मात्रा में मलबा आ गिरा जिसकी चपेट में आने से कान चंद की मौत हो गई।इसके अलावा सड़क निर्माण में पेटी ठेकेदार के रूप में काम करने वाले राजस्थान निवासी अशोक पुत्र उदयभान जितेंद्र पुत्र खेम सिंह और ऑपरेटर इरशाद मोहम्मद तीनों गंभीर रूप से घायल हुए साथ ही कटान कार्य में लगी पोकलैंड मशीन भी बोल्डर में दबकर क्षतिग्रस्त हो गई।

हादसे की जानकारी मिलते ही हिमाचल पुलिस की टीम एंबुलेंस के साथ मौके पर पहुंची मलबे की चपेट में आए घायलों को उपचार के लिए सिविल अस्पताल चौपाल ले जाया गया इस दौरान गंभीर रूप से घायल अशोक और जितेंद्र ने अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.