सीएम के सामने गिगिड़ाये उपनलकर्मी, भाजपा के इस नेता पर लगाया धोखा देने का आरोप

ख़बर शेयर करें

हलद्वानी एसकेटी डॉट कॉम

मुख्यमंत्री के सुशीला तिवारी अस्पताल में कोविड-19 ऑडियो को लेकर यह जा रहे हैं निरीक्षण के दौरान विगत कई महीनों से हड़ताल में बैठे उपनल कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री के पैर पकड़कर अपने 78 दिन के मानदेय को जारी करने की गुहार लगाई।

मुख्यमंत्री के सुशीला तिवारी अस्पताल के निरीक्षण के दौरान वहां पर आ धमके उपनल कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के आगे गुहार लगाई कि उनके 78 दिन के मानदेय को जारी किया जाए। हड़ताल को समाप्त करने के समय उनसे यह वादा किया गया था कि उनके इन 78 दिनों के मानदेय को उन्हें सम्मान पूर्वक दिया जाएगा पुलिस के साथ ही उनका किसी तरह का उत्पीड़न नहीं होगा लेकिन अभी तक उनके 78 दिन का मानदेय नहीं मिला है जिसकी वजह से उनके बच्चे सड़क पर आने को तैयार हैं।

उन्होंने मुख्यमंत्री के खास रहे भाजपा के एक नेता जो वर्तमान में हल्द्वानी विधानसभा से दावेदारी भी कर रहे हैं पर धोखाधड़ी का आरोप लगाया है इस दौरान कर्मचारियों ने साफ तौर पर कहा कि इस भाजपा नेता ने उन्हें आश्वासन दिया था कि उनके 78 दिन का मानदेय के साथ उनकी नियमितीकरण की मांग भी पूरी की जाएगी इसी आश्वासन के चलते उन्होंने अपना आंदोलन स्थगित किया था। लेकिन अभी तक उन्हें कोई भी सम्मान नहीं मिला है ।

कर्मचारियों का कहना है कि वह फ्रंटलाइन वर्कर हैं और हमेशा कोरना के काल में अपने बच्चों की जान खतरे में डालकर ड्यूटी कर रहे हैं इसके बावजूद सरकार उनकी अनदेखी कर रही है इस दौरान एक महिला उपनल कर्मी ने मुख्यमंत्री के पाव भी पकड़ लिए उन्होंने कहा कि आप तो राजा हैं जब राजा की बात को उनके अधिकारी नहीं मान रहे हैं तू है अब किसके दरवाजे पर जाएंगे। इसी बीच उनकी इस बात को मुख्यमंत्री बीच में छोड़कर मुख्यमंत्री का काफिला वापस चला गया। हीरा नगर में संघ से जुड़े हुए अपने करीबी श्याम अग्रवाल के स्वास्थ्य की जानकारी लेने के लिए पहुंचे थे । इसके बाद मुख्यमंत्री के खास बने वह नेता जो उनका आंदोलन तुड़वाने पहुचे थे वह से चुपचाप खिसक लिए।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.