ब्रेकिंग-हल्द्वानी पहुँचा था ड्रग माफिया बनमीत, ईडी ने किया गिरफ्तार भाई पहले ही हो चुका है गिरफ्तार

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी/देहरादून skt. com

Ad
Ad

जमानत पर छूटकर अमेरिका से आए हल्द्वानी के इंटरनेशनल ड्रग्स माफिया बनमीत नरूला को ईडी ने बुधवार शाम गिरफ्तार कर लिया।

नरूला को बृहस्पतिवार को स्पेशल ईडी कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे सात दिन की ईडी की कस्टडी रिमांड में भेज दिया गया। मामले से जुड़े बनमीत के भाई परमिंदर सिंह नरूला को भी अप्रैल में ईडी गिरफ्तार कर चुकी है।
यूरोप और अमेरिका में ड्रग्स तस्करी करने वाला माफिया बनमीत नरूला हल्द्वानी का रहने वाला है। वह बीते डेढ़ दशक से यूरोप और अमेरिका में सक्रिय था। डार्क वेब मार्केट पर करोड़ों डॉलर का अवैध ड्रग्स का कारोबार किया। वर्ष 2019 में नरूला की हरकतें अमेरिकी सरकार को पता चली। इसके बाद उसे 2019 में ही लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया।
गिरफ्तारी के बाद उसे अमेरिका प्रत्यर्पित कर दिया गया। वहां पर कोलंबिया कोर्ट में उस पर मुकदमा चला और वर्ष 2022 में उसे सात साल कैद और 50 लाख डॉलर के जुर्माने की सजा सुनाई गई। नरूला को गत अप्रैल में अमेरिकी कोर्ट से जमानत मिल गई और उसे भारत के लिए डिपोर्ट कर दिया गया, लेकिन भारत आते ही वह अंडरग्राउंड हो गया।
विज्ञापन

बनमीत के भारत आने की खबर ईडी को लगी तो एजेंसी ने 26 अप्रैल को घर पर छापा मारा। यहां घंटों पूछताछ और पड़ताल के बाद बनमीत के छोटे भाई परमिंदर को गिरफ्तार कर लिया गया। परमिंदर से भी ईडी ने करीब 10 दिनों तक कड़ी पूछताछ की। इसके बाद अब फिर पता चला कि बनमीत नरूला अपने घर पहुंचा है। इस पर ईडी ने उसे पूछताछ के लिए देहरादून ऑफिस बुलाया था।

यहां पर सात घंटे पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया। बताया जा रहा कि अभी ईडी नरूला बंधुओं के परिवार की संपत्तियों की जांच भी कर रही है। जल्द ही संपत्तियों को अटैच करने की कार्रवाई भी की जा सकती है।

ई-वॉलेट से मिले थे 268 बिटकॉइन
पिछले दिनों जब नरूला के घर पर छापा मारा था तो ईडी ने कंप्यूटर आदि की भी जांच की। इस दौरान परमिंदर नरूला के ई-वॉलेट से ईडी ने 268 बिटकॉइन जब्त किए थे। इनकी भारतीय रुपयों में कीमत करीब 131 करोड़ रुपये बताई गई थी। नरूला बंधु यूरोप, अमेरिका और दुबई में रहकर डॉर्क वेब मार्केट पर प्रतिबंधित दवाओं और ड्रग्स का कारोबार करते थे। ईडी की जांच में आया था कि बनमीत दुनिया के हर डार्क वेब मार्केट से जुड़ा था।