खसरे से होने वाली मौतों में उछाल, अधिकांश बच्चे शामिल, 2022 में इतने लाख रोगियों की पहचान चितांजनक

ख़बर शेयर करें

दुनियाभर में खसरे से होने वाली मौतो में अचानक उछाल आया है। साल 2021 से 2022 के बीच भारत सहित पूरी दुनिया में खसरे से होने वाली मौत के मामलों में 43 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। इस समय के दौरान 1.36 लाख मौते हुई हैं, जिनमें अधिकांश बच्चे शामिल हैं।

Ad

.
बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन और अमेरिकी रोग नियंत्रण ल रोकथाम केंद्र की ओर से जारी एक संयुक्त रिपोर्ट में इसका खुलासा किया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोना महामारी के चलते दुनिया भर में खसरे से बचाव के लिए टीकाकरण में कमी आई है, जिसकी वजह से खसरे के मामलों में 18 फीसदी का उछाल आया है।

रोगी और मृत्यु दोनों चिंताजनक
फिलहाल, स्थिति यह है कि साल 2022 में पूरी दुनिया में कुल 90 लाख खसरा रोगियों की पहचना हुई। वहीं ये भी मालूम पड़ा है कि साल 2021 में दुनिया के 22 देशों में खसरा के मामले सामने आए लेकिन 2022 में इन देशों की संख्या बढ़कर 37 तक पहुंच गई है। विशेषज्ञों के अनुसार खसरा से मुक्ति के लिए पूरी दुनिया एक लंबी लड़ाई का सामना कर रही है, क्योंकि यह अत्यधिक संक्रामक रोग है जिसकी मृत्युदर काफी अधिक है। खसरे के रोगी और मृत्यु दोनों ही मामलों में बढ़ोतरी होना चिंताजनक है। इससे बचाव के लिए सभी देशों को खसरा टीकाकरण पर और अधिक जोर देने की जरूरत है।

महामारी में 3.3 करोड़ बच्चे खुराक से रहे वंचित

मीडिया रिपोर्ट में मिली जानकारी के अनुसार कोरोना महामारी के चलते साल 2021-22 के बीच करीब 3.3 करोड़ बच्चे टीकाकरण से दूर रहे। 2.2 करोड़ को पहली और 1.1 करोड़ बच्चों को दूसरी खुराक नहीं मिल पाई। पिछले वर्ष 2022 में 83 फीसदी बच्चों को ही पहली खुराक मिल पाई जबकि 74 फीसदी को दूसरी खुराक मिली। इससे साफ पता चलता है कि दुनिया भर में अभी भी बड़ी संख्या में बच्चे टीकाकरण से दूर हैं जिन पर ध्यान देने की सख्त जरूरत है।