पंजाब की सियासी पिच पर दिल्ली से बैटिंग, सिब्बल ने कहा हम जी23 हैं जी हजूर नहीं

ख़बर शेयर करें

दिल्ली एसकेटी डॉटकॉम

पंजाब में सियासी हालात पर जहां कांग्रेस पर आम आदमी पार्टी ऒर भाजपा और अकाली दल लगातार हमले कर रहे हैं प्रदेश में सियासी अनिश्चितता बढ़ाने का आरोप लगाया जा रहा है वही कांग्रेस द्वारा ही पंजाब की सियासी पिच पर दिल्ली से बैटिंग की जारही है। कांग्रेश का जी 23 ग्रुप भी हमलावर इसके लिए कांग्रेस आलाकमान को ही दोषी मानकर फैसलों पर प्रश्नचिन्ह उठा रहे हैं। इस ग्रुप का कहना है कि पार्टी का अध्यक्ष नहीं होने के बावजूद पार्टी के निर्णय लिए जा रहे हैं और यह निर्णय किसके द्वारा लिए जा रहे हैं और इनका असर इतना बेअसर क्यों हो रहा है।

कांग्रेस के 23 बड़े नेताओं ने जो ग्रुप 23 बनाया है उनमें से प्रमुख कपिल सिब्बल एक पत्रकार वार्ता नो कॉन्ग्रेस नेतृत्व को असरकारक बनाने के लिए ब्रह्म विचार करने हेतु सीडब्ल्यूसी यानी कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक बुलाने की मांग की है उन्होंने कहा कि वह कई महीनों से सीडब्ल्यूसी की बैठक बुलाने की मांग कर रहे हैं ताकि उसम तैयार किया जा सके विचार विमर्श कर परिपक्व नेतृत्व तैयार किया जा सके जिसके द्वारा लिए जाने वाले फैसलों को कड़ाई से लागू करने की मांग की गई। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि हम लोग कांग्रेस की भलाई चाहने के लिए काम करना चाहते हैं कांग्रेस का कोई भी वर्कर कभी भी कांग्रेस की बदनामी नहीं करना चाहता है वह चाहता है कि कांग्रेस मजबूत बंद कर दें और भाजपा के कांग्रेस मुक्त भारत के नारे को असर ही बना कर रख दे इंस्टॉल उन्होंने इशारों इशारों में कहां कि हम जी 23 ग्रुप है न कि जी हजूर।

उन्होंने कहा कि हजूरी वाले लोग ही अपने अल्प लाभ के लिए कांग्रेस को नुकसान पहुंचाते आए हैं जिसस जिससे कवरेज धरातल पर की कमजोर होती जाती है जिसका परिणाम है कि सबसे पुरानी पार्टी लोकसभा में वर्ष 2014 के आम चुनाव में नेता प्रतिपक्ष के पद के न्यूनतम अहर्ता वाली सीट तक पहुंचने के लिए भी तरसते देखे गए थे

कपिल सिब्बल ने कहा कि सीडब्ल्यूसी की बैठक बुलाकर तुरंत पंजाब मामले पर ठोस निर्णय लिया जाए और अध्यक्ष पद को भी किसी किसी वर्कर से भरा जाए उन्होंने कहा कि पंजाब की हालत के लिए पूरी तरह से कांग्रेस आलाकमान का उत्तरदयित्व बनता है आलाकमान को मजबूती के साथ फैसले लेते हुए कार्यकर्ताओं की भावनाओं के अनुसार ही कार्य करना चाहिए

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *