शादी के बाद गर्लफ्रेंड ने नहीं की बात, तो प्रेमी ने रच डाली अजब प्रेम की गजब कहानी

ख़बर शेयर करें

UP News: शादी के बाद गर्लफ्रेंड ने नहीं की बात, तो प्रेमी ने रच डाली अजब प्रेम की गजब कहानी

यूपी के आजमगढ़ में पुलिस ने सनसनीखेज मामले का खुलासा किया है. आजमगढ़ पुलिस ने तथाकथित अपहरण मामले का पर्दाफाश करते हुए दो अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है. पुलिस की जांच में ये तथ्य सामने आया कि अपनी प्रेमिका को फंसाने के लिए युवक ने खुद के अपहरण की झूठी सूचना अपने परिजनों को दिलवाई. वहीं, इस मामले में लड़की को आरोपित बनाया गया था.

दोस्त के साथ मिलकर बनाई योजना
आपको बता दें कि आरोपी प्रेमी ने अपने एक दोस्त के साथ मिलकर ये खेल खेला. वहीं, महाराजगंज थाने की पुलिस अभियुक्त संदीप कुमार निवासी सिकन्दपुर आइमा थाना महाराजगंज और बलराम सिंह निवासी छितही बाजार थाना रुद्रपुर जनपद देवरिया को बवाली मोड़ पास से गिरफ्तार कर लिया. तब पूरे मामले का खुलासा हुआ. आइए आपको बताते हैं पूरा मामला.

20 अगस्त से था लापता
दरअसल, आजमगढ़ जिले के बिलरियागंज थाना क्षेत्र में एक महिला ने 29 अगस्त को थाने में तहरीर दी. तहरीर में बताया गया कि उसका 24 वर्षीय लड़का संदीप 20 अगस्त से लापता है. वह सुबह घर से सरदहा बाजार गया था, जिसका अपहरण कर लिया गया है. उसकी हत्या की जा सकती है. पुलिस ने इस मामले में आईपीसी की धारा 364 के तहत मुकदमा दर्ज जांच शुरू की.

अपहरण की कहानी झूठी निकली
आपको बता दें कि पुलिसिया जांच में अपहरण की कहानी झूठी निकली. विवेचना के दौरान यह तथ्य प्रकाश में आया कि संदीप उस लड़की जो दूसरे समुदाय से आती उससे प्यार करता था. जब उस लड़की की शादी हो गई तो उससे बात करने का दबाव बनाने लगा. लड़की के मना करने पर संदीप ने उसे फंसाने की धमकी दी. गिरफ्तार अभियुक्त संदीप ने पूछताछ में बताया कि 20 अगस्त को वह बिना किसी को बताए मुम्बई चला गया. वह मुम्बई से पुणे पहुंचा, जहां उसकी मुलाकात बलराम सिंह से हुई. जिससे उसकी दोस्ती हो गई. बलराम ने उसे नया सिम उपलब्ध कराया।

पुलिस ने दी मामले की जानकारी
इस मामले में अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण ने बताया कि आरोपी ने अपने भाई को मोबाइल पर डराया, धमकी वाले मैसेज भी भेजें. इतना ही नहीं उसने अपने दोस्त बलराम की मदद से अपने हाथ की एक ऐसी पिक्चर बनाई, जिसमें उसका हाथ खून से सना दिख रहा था. वहीं, घरवालों को डराने के लिए आरोपी ने अपने भाई अनिकेत के व्हाट्सएप पर मैसेज भेजा था.

मामले में दो लोग गिरफ्तार
इस फोटो को देखकर घर वाले काफी डर गए. जिसके बाद 29 अगस्त को उसकी मां ने थाने में जाकर बेटे की प्रेमिका के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कराया. एसपी ग्रामीण ने बताया कि अपहृत ने खुद मनगढ़ंत कहानी बनाई. झूठा मुकदमा दर्ज कराने के लिए अपने दोस्त के साथ मिलकर कहानी रची. इस मामले में संदीप और बलराम को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा रहा है.

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.