हलद्वानी के डॉक्टर से रंगदारी के मामले में 10 वर्ष का लड़का और…..

ख़बर शेयर करें

हलद्वानी एसकेटी डॉट कॉम

रामपुर रोड स्थित गर्व डायग्नोस्टिक सेंटर के स्वामी एवं ईएनटी विशेषज्ञ वैभव कुच्छल से 3 करोड़ की रंगदारी मांगने के मामले में पुलिस ने सफलता हासिल की है। हल्द्वानी की पुलिस में हापुड़ से एक 10 साल के लड़के और उसके पिता को गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के मुताबिक 9 मई को डॉ वैभव कुछल के फोन पर अज्ञात नंबर से एक कॉल आई थी जिसमें उनसे 3 करोड़ की रंगदारी मांगी गई थी रंगदारी नहीं देने पर अंजाम भुगतने और उनके पुत्र के अपहरण करने की धमकी दी गई थी।

शहर के एक चिकित्सक से तीन करोड़ की रंगदारी मांगने के मामले में पुलिस ने पिता-पुत्र को गिरफ्तार किया है।पूछताछ में यह बात सामने आई है कि काल पर रंगदारी मांगने व रंगदारी नहीं देने पर बच्चे के अपहरण की धमकी देने वाला 10 साल का बच्चा है। पुलिस के मुताबिक रामपुर रोड पर डा. वैभव कुच्छल का गर्व डायग्नोस्टिक सेंटर एंड हास्पिटल एवं आवास है।

डा. वैभव ने पुलिस को बताया कि नौ मई की शाम करीब छह बजे उन्हें एक अज्ञात नंबर से काल आई। पहली बार आवाज सुनने में लगा कि कोई बच्चा बात कर रहा है।

डाक्टर वैभव के मुताबिक दोबारा काल कर धमकाते हुए तीन करोड़ की डिमांड की गई। रकम न देने पर बच्चे के अपहरण की धमकी दी गई। उसके बाद भी उसी नंबर से काल आया, लेकिन उन्होंने रिसीव नहीं किया। पुलिस ने मोबाइल नंबर के आधार पर अज्ञात व्यत्तिफ के विरुद्ध रंगदारी और धमकाने का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मंगलवार को चिकित्सक ने इस मामले में एसएसपी पंकज भट्ट से मुलाकात भी की।

एसएसपी ने बताया कि मोबाइल नंबर सर्विलांस पर लगाया गया। उसके आधार पर टीम हापुड भेजी गई। साथ ही चिकित्सक के अस्पताल व आवास के बाहर दो पुलिसकर्मी भी तैनात कर दिए गए थे। टीम हापुड़ में कारपेंटर व उसके बेटे को ले आई है। पूछताछ में कारपेंटर ने बताया कि कॉल उनके 10 साल के बच्चे ने किया। पुलिस जांच में काल पर बच्चे की आवाज आई है। फिलहाल पुलिस अभी जांच कर रही है।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.