बड़ी उपलब्धि – हल्द्वानी के लोगों के लिए खुशखबरी, पहला कॉर्निया का सफल प्रत्यार्पण, नेत्रहीन को मिली रोशनी

हल्द्वानी एसकेटी डॉट कॉम

Prime news haldwani

हल्द्वानी के लोगों के लिए आज एक बहुत बड़ी खुशखबरी सामने आई जब सुशीला तिवारी अस्पताल के नेत्र विभाग के ओ एच डी डॉक्टर जी एस तितियाल के नेतृत्व में उनकी टीम ने एक सफल कार्नया को प्रतिरोपित किया. जिसके फलस्वरूप दिल दुखाता की एक नेत्रहीन महिला को नई रोशनी मिली. इस सफल प्रत्यारोपण के बाद ही में एक अन्य प्रत्यारोपण भी किया जाएगा.

डॉक्टर जी एस तितयाल की टीम के सार्थक प्रयास से हल्द्वानी के लोगों में एक उम्मीद जग गई कि उन्हें कॉर्निया ट्रांसप्लांट के लिए बड़े शहरों की दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी.

हल्द्वानी- कुमाऊं के सबसे बड़ा डॉक्टर सुशीला तिवारी अस्पताल लोगों के लिए दिन प्रतिदिन बेहतर उपचार सेवा लेकर नए कीर्तिमान हासिल कर रहा है। इसी तरह आज डा0 सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय में आज एक नेत्रहीन् महिला का कार्निया का सफलतापूर्वक प्रत्यारोपण किया गया ।

डॉ0 जी0एस तितियाल विभागाध्यक्ष नेत्र रोग विभाग व प्रभारी आई बैंक द्वारा बताया कि डा0 सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय के आई बैंक में दिनांक 26 अगस्त शुक्रवार को प्रथम नेत्रदान हुआ था जो 81 वर्षीय तुलसी धानिक निवासी लालडांठ, बिठोरिया के द्वारा किया गया था।दान किये गये कार्निया का प्रत्यारोपण आज डा० तीतियाल और उनकी टीम ने सफलता पूर्वक किया

, लालकुआँ निवासी 81 वर्षीय एक महिला जो दोनो नेत्रों से नेत्र हीन थी उसकी दोनो नेत्रो कि पुतलियाँ खराब थी उसका आज सम्पूर्ण आवश्यक जांचो के उपरांत कार्निया का प्रत्यारोपण सफलतापूर्वक किया गया।एक अन्य नेत्र हीन रोगी का भी जल्दी हि कार्निया का प्रत्यारोपण किया जायेगा।
डा0 सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय में हमारा प्रयास है कि अधिक से अधिक कार्निया का प्रत्यारोपण किया जाये, जिसके लिए हमारी टीम और काउंसलर चिकित्सालय में ईलाज के दौरान जिन रोगियों की मृत्यु हो जाती है उनके परिजनों से उनके नेत्रदान करने हेतु आग्रह कर रहे है ताकि किसी नेत्रहीन व्यक्ति को रोशनी मिल सके और अब आई बैंक में कार्निया प्रत्यारोपण शुरू होने से कुमाऊ क्षेत्र के नेत्रहीन मरीजों को बाहर जाने की आवश्यकता नही पड़ेगी।

तितियाल ने आमजन से अपील करते हुए कहा कि नेत्रदान हेतु आगे आयें व अपने परिजनों को नेत्रदान के लिए प्रेरित करे। प्राचार्य डा0 अरूण जोशी ने कहा कि यह एक बहुत बड़ी उपलब्धि है। डा0 जी0एस0 तितियाल और उनकी पूरी टीम बधाई की पात्र है नेत्र रोग विभाग बहुत लम्बे समय से कार्निया प्रत्यारोपण कार्य के लिए प्रयासरत था और जिसमें आज पहली सफलता मिली है ।

Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.